Top

नागपुर टेस्ट : भारत की विराट विजय, SL को पारी और 239 रनों से हराया

अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर भारत ने विदर्भ क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन श्रीलंका को दूसरे सत्र की समाप्ति से पहले ही एक पारी और 239 रनों से हरा दिया।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 27 Nov 2017 8:10 AM GMT

नागपुर टेस्ट : भारत की विराट विजय, SL को पारी और 239 रनों से हराया
X
नागपुर टेस्ट : भारत की विराट विजय, SL को पारी और 239 रनों से हराया
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नागपुर: भारतीय क्रिकेट टीम ने सोमवार को विदर्भ क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में श्रीलंका को एक पारी और 239 रनों से हरा दिया। इस जीत से मेजबान टीम ने तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त हासिल कर ली है। दोनों टीमों के बीच कोलकाता में खेला गया पहला टेस्ट मैच बारिश की बाधा के कारण ड्रॉ हुआ था। ऐसे में श्रीलंका और भारत के बीच दो दिसम्बर से दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेले जाने वाला तीसरा और अंतिम टेस्ट मैच निर्णायक रहेगा।

श्रीलंका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए अपनी पहली पारी में 205 रन बनाए थे। मेहमान टीम को इस स्कोर पर समेटने में भारतीय गेंदबाजों रविचंद्रन अश्विन, इशांत शर्मा और रवींद्र जड़ेजा ने अहम भूमिका निभाई।इसके बाद, कप्तान विराट कोहली (213) के दोहरे शतक और चेतेश्वर पुजारा (143), मुरली विजय (128) तथा रोहित शर्मा (नाबाद 102) की शतकीय पारियों के दम पर भारत ने रविवार को अपनी पहली पारी छह विकेट खोकर 610 रनों पर घोषित कर दी।

अपनी दूसरी पारी खेलने उतरी श्रीलंका की टीम तीसरे दिन स्टम्पस तक एक विकेट खोकर 21 रन बना पाई। टीम की ओर से रविवार को पवेलियन लौटने वाले बल्लेबाज सदीरा समाराविक्रम रहे। उन्हें इशांत शर्मा ने खाता खोलने का मौैका दिए बगैर बोल्ड कर पवेलियन का रास्ता दिखाया।इसके बाद, सोमवार को एक विकेट पर 21 रनों से आगे खेलने उतरी श्रीलंका की टीम भारतीय गेंदबाजों के आगे पस्त नजर आई और पहले सत्र की समाप्ति तक उसने अपने आठ विकेट गंवा दिए। श्रीलंका को इस कदर कमजोर करने में जडेजा, इशांत, अश्विन और उमेश ने अहम योगदान दिया।

जडेजा ने 34 के कुलयोग पर दिमुथ करुणारत्ने (18) को मुरली विजय के हाथों कैच आउट कर श्रीलंका को दिन का पहला झटका दिया। इसके बाद टीम के खाते में 14 रन ही जुड़ पाए थे कि लाहिरु थिरामन्ने (23) उमेश यादव की गेंद पर जडेजा के हाथों कैच आउट हो गए।एंजेलो मैथ्यूज (10) ने चंडीमल (नाबाद 53) के साथ 20 रन जोड़े, लेकिन वह ज्यादा देर तक पिच पर टिक नहीं पाए और जडेजा की गेंद पर रोहित शर्मा को कैच थमा बैठे।

एक छोर पर श्रीलंका की पारी को संभाले चंडीमल को टीम के बाकी खिलाड़ियों का साथ नहीं मिला। मैथ्यूज के आउट होने के बाद कप्तान का साथ देने आए निरोशन डिकवेला (4) को इशांत ने कोहली के हाथों कैच आउट करवाया।

इसके बाद अश्विन ने दासुन शनाका (17) को भी ज्यादा देर तक चंडीमल के साथ पिच पर टिकने नहीं दिया और लोकेश राहुल के हाथों कैच आउट करवाया। शनाका जब आउट हुए तब टीम का स्कोर 102 था।अश्विन ने शनाका के आउट होने के बाद दिलरुवान परेरा और रंगना हैराथ को खाता खोलने का मौका भी नहीं दिया और पवेलियन का रास्ता दिखाया।

सुरंगा लकमाल (नाबाद 19) और चंडीमल ने इसके बाद किसी तरह बिना कोई और विकेट गंवाए टीम का स्कोर भोजनकाल तक 145 के स्कोर तक पहुंचाया।

दूसरे सत्र में भारत को जीत के लिए केवल दो विकेट की दरकार थी। टीम की पारी को संभाले चंडीमल को उमेश ने 165 के कुलयोग पर अश्विन के हाथों कैच आउट करवाया और श्रीलंका को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया।चंडीमल के आउट होने के बाद 10वें विकेट के लिए सुंरगा लकमल (31) का साथ देने आए लाहिरु गमागे को अश्विन ने बोल्ड कर 166 के स्कोर पर श्रीलंका की पारी समेट दी। गमागे खाता खोले बिना ही बोल्ड हो गए।

गमागे का विकेट लेने के साथ ही दिग्गज स्पिन गेंदबाज अश्विन ने एक और उपलब्धि अपने नाम की। वह सबसे तेजी से करियर के 300 विकेट पूरे करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं। उन्होंने इस क्रम में आस्ट्रेलिया के दिग्गज गेंदबाज डेनिस लिली को पछाड़ा।डेनिस ने 56 टेस्ट मैचों में 300 विकेट पूरे करने का रिकॉर्ड बनाया था। अश्विन ने 54 टेस्ट मैचों में 300 विकेट पूरे करने के साथ इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया और इस सूची में पहला स्थान हासिल किया।

इसके अलावा, इस टेस्ट मैच में कोहली का यह कप्तान के तौर पर 10वां टेस्ट शतक था। वह एक कैलेंडर ईयर में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले कप्तान भी बन गए हैं। उन्होंने अपना पांचवां दोहरा शतक पूरा किया। वह पांच दोहरे शतक लगाने वाले पांचवें कप्तान बने। उन्होंने इस मामले में वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा के रिकाडऱ् की बराबरी की।

--आईएएनएस

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story