Top

Nidahas Trophy : कुशल परेरा बने नायक, श्रीलंका ने जीता 5 विकेट से मैच

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 6 March 2018 2:04 PM GMT

Nidahas Trophy :  कुशल परेरा बने नायक, श्रीलंका ने जीता 5 विकेट से मैच
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कोलंबो : कुसल परेरा (66) की शानदार अर्धशतकीय पारी के दम पर श्रीलंका ने मंगलवार को आर. प्रेमदासा स्टेडियम में खेले गए निदास ट्रॉफी टूर्नामेंट के पहले मैच में भारत को पांच विकेट से हरा दिया। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (90) की श्रेष्ठ व्यक्तिगत पारी की बदौलत भारतीय क्रिकेट टीम ने श्रीलंका को 175 रनों का लक्ष्य दिया।

इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंका क्रिकेट टीम ने अपना पहला विकेट कुसल मेंडिस (11) के रूप में गंवाया। वह वाशिंगटन सुंदर की गेंद पर शिखर धवन के हाथों लपके गए।

इसके बाद, दानुश्का गुनाथीलका (19) का साथ देने आए कुसल ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए टीम की पारी को संभाला और 58 रनों की साझेदारी की। भारतीय गेंदबाजों को काफी परेशानी के बाद आखिरकार सफलता हाथ लगी।

उनादकट की गेदं पर लंबा शॉट मारने की कोशिश में गुनाथीलका ऋषभ पंत के हाथों लपके गए। गुनाथीलका के साथ कुसल ने चार से भी कम ओवरों में अर्धशतकीय साझेदारी की।

गुनाथीलका के आउट होने के बाद कप्तान दिनेश चंडीमल (14) कुसल का साथ देने आए। इस बीच अपने करियर का 31वां टी-20 मैच खेल रहे कुसल ने आठवां अर्धशतक पूरा किया।

चंडीमल और कुसल ने 28 रन जोड़कर टीम को 98 के स्कोर तक पहुंचाया और इसी स्कोर पर युजवेंद्र चहल ने कप्तान चंडीमल को बोल्ड कर भारत को एक और सफलता दी।

श्रीलंका को अब जीत के लिए 77 रनों की जरूरत थी और उसके सात विकेट अब भी बाकी थे। पिच के एक छोर पर अपनी धुंआधार बल्लेबाजी से भारतीय गेंदबाजों के पसीने छुड़ाने में लगे कुसल अब भी टिके हुए थे।

कुसल ने उपुल थारंगा (17) के साथ 28 रनों की साझेदारी की और टीम को 127 के स्कोर तक पहुंचाया। इसी स्कोर पर वाशिंगटन की गेंद पर विकेट के पीछे खड़े दिनेश कार्तिक ने कुसल को स्टम्प आउट किया।

कुसल ने 37 गेंदों में छह चौके और चार छक्के लगाए। वह भले ही आउट हो गए थे, लेकिन उन्होंने श्रीलंका के लिए जीत आसान कर दी थी। मेजबान टीम को अब जीत के लिए 42 गेंदों में 48 रन बनाने थे।

यहां थारंगा ने दासुन शनाका (नाबाद 15) के साथ टीम की पारी को संभाला। 14 ओवर की चौथी गेंद पर ऋषभ ने थारंगा का कैच छोड़ उन्हें जीवन दान दिया। हालांकि, यह ज्यादा देर तक बरकरार नहीं रहा और चहल ने 136 के स्कोर पर थारंगा को बोल्ड कर श्रीलंका का पांचवां विकेट भी गिरा दिया।

पावरप्ले में कुसल की शानदार बल्लेबाजी से मजबूत शुरूआत करने वाली श्रीलंका अब कमजोर पड़ रही थी। उसे 29 गेंदों में 37 रन चाहिए थे।

शनाका के साथ छठे विकेट के लिए थिसारा परेरा (नाबाद 22) मैदान पर उतरे। दोनों किसी तरह लक्ष्य को हासिल करने की कोशिश में लगे हुए थे। मैच रोमांचक मोड़ पर आ गया था। तीन ओवर बाकी थे और श्रीलंका को अब भी 24 रन बनाने थे।

श्रीलंका को जहां हर गेंद पर 2 रन बनाने थे, वहीं भारतीय गेंदबाजों को श्रीलंका को रन बनाने से रोकना और बाकी पांच विकेट हासिल करने थे। यहां थिसारा ने अपने छक्के औ? चौकों से टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया और पांच विकेट से जीत दिलाई।

इस पारी में भारत के लिए वाशिंगटन और चहल ने दो-दो विकेट लिए, वहीं उनादकट को एक सफलता मिली।

निदास ट्रॉफी का दूसरा मैच आठ मार्च को इसी स्टेडियम में बांग्लादेश और भारत के बीच खेला जाएगा।

टीमें :

भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन (उपकप्तान), सुरेश रैना, मनीष पांडे, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), ऋषभ पंत, वॉशिंगटन सुंदर, विजय शंकर, शार्दुल ठाकुर, जयदेव उनादकट और युजवेंद्र चहल।

श्रीलंका : दिनेश चांडीमल (कप्तान-विकेटकीपर), उपुल थारंगा, दानुश्का गुनाथीलका, कुसल मेंडिस, कुसल परेरा, दासुन शनाका, थिसारा परेरा, जीवन मेंडिस, अकीला धनंजय, दुश्मंथा चमीरा और नुवान प्रदीप।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story