Olympic Medals Mein Hera-Pheri: टोक्यो ओलंपिक मेडल में चीन ने किया गोलमाल! खुद को बताया No.1, जानें कैसे

Olympic Medals Mein Hera-Pheri: हाल ही में टोक्यो में हुए ओलंपिक खेलों का आयोजन समाप्त हुआ है। खेलों के इस महाकुंभ में अमेरिका टॉप पर रहा। वहीं चीन पदक तालिका के लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहा।

Olympic Medals Mein Hera-Pheri: टोक्यो ओलंपिक मेडल में चीन ने किया गोलमाल! खुद को बताया No.1, जानें कैसे
अमेरिका-चीन (डिजाइन फोटो- सोशल मीडिया)
Follow us on

Olympic Medals Mein Hera-Pheri: चीन (China) खुद को सर्वश्रेष्ट साबित करने के लिए किसी भी हद तक जा सकता है। हाल ही में टोक्यो में हुए ओलंपिक खेलों का आयोजन समाप्त हुआ है। खेलों के इस महाकुंभ में अमेरिका (USA) टॉप पर रहा है। वहीं चीन पदक तालिका के लिस्ट (Olympics Medal Table) में दूसरे नंबर पर रहा, लेकिन चीन यह मानने को तैयार नहीं है कि वह ओलंपिक में पदक तालिका के लिस्ट में दूसरे नंबर पर है। उसका मानना है कि उसके पास अमेरिका से ज्यादा मेडल्स हैं, इसलिए वह ओलंपिक का विजेता है। आइए आपको बताते है कि कैसे चीन खुद को ओलंपिक का नंबर-1 विजेता घोषित कर रहा है...

टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) की ऑफिशियल वेबसाइट के मुताबिक, अमेरिका ने ओलंपिक में 113 पदक जीते (America won 113 Medals in the Olympics), जिसमें 39 स्वर्ण, 41 रजत और 33 कांस्य पदक शामिल है। वहीं ओलंपिक में पदक तालिका के लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहे चीन को कुल 88 पदक हासिल (China won 88 medals) हुए, जिसमें 38 स्वर्ण (Gold Medals), 32 रजत (Silver Medals) और 18 कांस्य पदक (Bronze Medals) हासिल किए हैं।

चीन ने आंकड़ों के साथ की छेड़छाड़

चीनी मीडिया के मुताबिक, टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics 2020) में अमेरिका की अपेक्षा चीन ने ज्यादा गोल्ड मेडल जीते हैं, इस वजह से चीन ओलंपिक गेम्स (Olympic Games) विजेता है। हालांकि अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (International Olympic Committee) के अनुसार, अमेरिका ओलंपिक का विजेता है और जबकि चीन दूसरे नंबर पर हैं। लेकिन चीन खुद को विजेता बता रहा है। इसके लिए उसने आंकड़ों के साथ ही छेड़छाड़ किया है।

ओलंपिक पदक तालिका-चीन (डिजाइन फोटो- सोशल मीडिया)
ओलंपिक पदक तालिका-चीन (डिजाइन फोटो- सोशल मीडिया)

चीन ओलंपिक का नंबर-1 विजेता कैसे हुआ (China Olympics Ka No.1 Winner Kaise Hua)?

रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन अमेरिका से ज्यादा मेडल्स हासिल करने का दावा कर रहा है। इसके लिए उसने हांगकांग (Hong Kong) और ताइवान (Taiwan) के भी ओलंपिक मेडल्स को अपने खाते में जोड़ लिया है। इनके ओलंपिक मेडल्स जोड़ने के बाद चीन के पास अमेरिका से ज्यादा मेडल्स हो रहा है। यही वजह है कि वह अमेरिका से ज्यादा मेडल्स जीतने का दावा कर रहा है।