Top

PV Sindhu Special: आलोचना करने वालों के लिए यही जवाब, खोले कई राज

Harsh Pandey

Harsh PandeyBy Harsh Pandey

Published on 27 Aug 2019 6:56 AM GMT

PV Sindhu Special: आलोचना करने वालों के लिए यही जवाब, खोले कई राज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: आसमां नीचे मै ऊपर, एक दिन मेहनत कामयाबी चूमेगी, जो जीता वही सिकन्दर, कोशिश करने वाले की हार नहीं होती....ऐसे ही कई डॉयलागों को सच साबित कर रही है भारत की ये स्‍टार खिलाड़ी, हम बात कर रहे हैं विश्व चैंपियन भारत की बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु की....

विश्व चैंपियन...

पीवी सिंधु ने कभी हार नहीं मानी, वे पांचवीं कोशिश में जापान की नोजोमी ओकुहाराको हराकर विश्व चैंपियन बनी। इस खिताब को जीतने वाले पहली भारतीय खिलाड़ी सिंधु ने पत्रकार वार्ता में बताया कि वह इस जीत का काफी लंबे से इस जीत का इंतजार कर रही थीं और आखिरकार उन्हें वो जीत भी नसीब हो ही गई, मैं बहुत उत्साहित हूं।

कई मेडल किये अपने नाम...

इस गोल्ड मेडल से पहले सिंधु ने इस टूर्नामेंट के दो ब्रॉन्ज और दो सिल्वर मेडल जीते हैं। सिंधु का यह लगातार तीसरा फाइनल था। बताते चलें कि 2017 में खिताबी मुकाबले में नोजोमी ने और 2018 में कैरोलिना मारिन ने उन्हें मात दी थी।

जीत का राज़...

सिंधु ने प्रेसवार्ता में कहा कि 2017 से ही अपनी फॉर्म पर मजबूती से काम रही थीं, जिसका रिजल्ट आप सभी के सामने है। उन्होंने कहा कि जो मेरी आलोचना करते थे उनके लिए यह एक जवाब है।

कोच गोपीचंद की सलाह...

भारत की इस दिग्गज खिलाड़ी ने फाइनल मैच के बारे में कहा कि कोच गोपीचंद के बारे में बताया कि उन्होंने मुझे अपना स्वभाविक गेम खेलने के लिए कहा। सिंधु ने जापानी खिलाड़ी को सीधे गेमों में 21-7, 21- 7 से हराया।

विपक्षी खिलाड़ी नहीं दिया कोई मौका...

प्रेसवार्ता में उन्होंने कहा कि वह फाइनल में काफी आक्रामक थी और अपनी विपक्षी खिलाड़ी को हावी होने का कोई मौका नहीं दिया। खेल में लगातार बढ़त बनाए रखी और सच आपके सामने है।

यह भी पढ़े..अलीगढ़ बड़ा हादसा: प्लेन कैश, 4 इंजीनियर समेत 2 पायलट थे सवार

मां को दिया जन्मदिन का तोहफा...

खास बात है कि जिस दिन सिंधु ने इस खिताब को अपने नाम किया जिस दिन उनकी मां का जन्मदिन था और उन्होंने इस खिताब को अपनी मां को समर्पित किया। इसके साथ ही उन्होंने अपने प्रशंसकों को भी धन्यवाद दिया। सिंधु ने कहा कि उन्हें प्रशंसकों से बहुत सारा प्यार और दुआएं मिली हैं, जिसकी वजह से वो आज यहां पर हैं।

भारतीय होने पर गर्व, हैदराबाद में खास तैयारी...

साथ ही उन्होंने कहा कि वो गौरवान्वित महसूस कर रही है कि वह एक भारतीय है। वहीं उनके निवास स्थान हैदराबाद में भी स्वागत के लिए खास तैयारियां की जा रही है।

वर्ल्ड चैंपियन की वतन वापसी...

भारत की स्‍टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु वर्ल्ड चैंपियन बनकर सोमवार देर रात देश लौट आई हैं। वह स्विट्जरलैंड से नई दिल्ली के हवाई अड्डे पहुंचीं, जहां उनका भव्य स्वागत किया गया

यह भी पढ़े...जेटली के अंतिम संस्कार में गायब हुए धड़ाधड़ सबके फोन

Harsh Pandey

Harsh Pandey

Next Story