Sports

देश के एक तरफ जहाँ पूरी दुनिया कोरोना वायरस से जंग लड़ रही है वही दूसरी तरफ टिड्डियों ने भी अपना आतंक पूरे देश में फैला रखा है। और इन्ही टिड्डियों की चपेट में अब आ चुके है भारत के पूर्व धाकड़ ओपनर बल्लेबाज़ .

र्जेंटिना और दुनिया के महान फुटबॉलर डिएगो माराडोना का विवादों से पुराना नाता रहा है। एक बार फिर वो अपनी दोनों बेटियों के कारण सुर्खियों में हैं।दोनों बेटियों को अक्सर माराडोना की वजह से पब्लिक प्लेस  पर शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है। इसलिए उनकी बेटियां जिआनिना और डालमा उन्‍हें कोर्ट में घसीटने की तैयार कर रही हैं।

हार्दिक ने कि उन्हें विराट ने इस सवाल का जवाब देते हुए कहा, '(खेल के प्रति) तुम्हार व्यवहार अच्छा है, सब कुछ अच्छा है, तुम्हें बस एक ही बात दिमाग में रखनी है कि तुम्हें टॉप लेवल पर पहुंचना है यहां निरंतरता को बरकरार रखना है।

लेकिन लगता है रिटायरमेंट के बाद धोनी एक नए और अलग अंदाज़ में सबके सामने नज़र आएँगे। अभी अभी आई ताज़ा ख़बरों के मुताबिक नी अब कोचिंग में हाथ आजमाने जा रहे हैं। 

दुनिया के दिग्गज फुटबॉलर में शुमार क्रिस्टियानो रोनाल्‍डो अपनी गर्लफ्रेंड जार्जिना के साथ प्राइवेट याच पर छुट्टियां मनाने निकले हैं। वहीं उनकी गर्लफ्रेंड ने रोनाल्डो के साथ कुछ रोमांटिक फोटोज शेयर की हैं, जो कि काफी वायरल हो रही है।

भारतीय क्रिकेट में बहुत सारे रिकॉर्ड है जो हैरान करते हैं। उनमें एक अनिल कुंबले के एक पारी में दसों विकेट लेने का रिकॉर्ड तो सबको पता है, लेकिन आपको पता है इसके पहले भी एक भारतीय क्रिकेटर था, जिसने एक पारी में 9 विकेट लिए थे और रिकॉर्ड बनाया था। वो जसु पटेल थे जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट बहुत बड़ा नहीं था।

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की पाकिस्तानी खिलाड़ियों के वीजा संबंधी गारंटी लेने की मांग पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने करारा जवाब दिया है...

क्रिकेट के इतिहास में 25 जून की तारीख को हमेशा याद किया जाएगा। इसी दिन 37 साल पहले 1983 में भारत क्रिकेट का विश्व चैंपियन बना था। भारत ने लॉर्ड्स के मैदान में उस समय की दिग्गज टीम वेस्टइंडीज को 43 रनों से हराकर पूरी दुनिया को हैरान कर दिया था।

आज का दिन भारत के लिए बेहद खास है, क्योंकि आज ही के दिन कपिल देव की अगुवाई में भारत ने पहली बार 1983 में वनडे वर्ल्ड कप जीता था। भारत ने 25 जून 1983 को वेस्टइंडीज को फाइनल में हराकर इतिहास रचा था।

स्वतंत्र भारत के इतिहास में 25 जून की तारीख को दो महत्वपूर्ण कारणों से याद किया जाता है। पहला कारण है कि इसी दिन 45 साल पहले 1975 में देश को...