Sports

मैक्वेरी स्पोर्ट्स रेडियो ने प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से कहा कि स्लेटर और दो महिलाओं के बीच तीखी बहस हो गई। उन्होंने सिडनी से वाग्गा वाग्गा के लिये उड़ान ली थी।

विश्व कप में हमेशा अच्छा प्रदर्शन करने वाली श्रीलंका ने एक बार खिताब जीता और दो बार उपविजेता रही जबकि एक बार सेमीफाइनल में पहुंची। इस बार वह सबसे कमजोर टीमों में से है।

पूर्व तेज गेंदबाज सुनील वाल्सन ऐतिहासिक 1983 विश्व कप खिताबी जीत दर्ज करने वाले भारतीय दल में एक भी मैच नहीं खेलने वाले एकमात्र सदस्य थे, लेकिन इसके बावजूद वह भावनात्मक रूप से टीम से मजबूत जुड़ाव महसूस करते हैं।

पाकिस्तान सुपर लीग में आसिफ की टीम इस्लामाबाद युनाइटेड के बयान के अनुसार, आईएसएलयू परिवार की संवेदनायें आसिफ के साथ है जिसने अपनी बेटी खो दी है। आसिफ काफी मजबूत है और हम सभी के लिये प्रेरणा है। 

युवा रिश्तेदार के साथ समलैंगिक रिश्ते का खुलासा करने वाली भारत की सबसे तेज धाविका दुती चंद के सामने अब अपने परिवार द्वारा स्वीकार किए जाने की कड़ी चुनौती है। एशियाई खेल 2018 में दो रजत पदक जीतने वाली 23 साल की दुती दुनिया की उन कुछ खिलाड़ियों में शामिल हैं जिन्होंने सार्वजनिक रूप से समलैंगिक रिश्ता स्वीकार किया है।

विश्व बैडमिंटन महासंघ (बीडब्ल्यूएफ) ने एयरबैडमिंटन की वैश्विक स्तर पर पिछले सप्ताह ग्वांग्झू में शुरुआत की थी। इसमें कोर्ट की लंबाई चौड़ाई भिन्न होगी तथा इसमें नयी तरह की शटलकॉक का उपयोग किया जाएगा जिसे एयरशटल कहते हैं।

पांच बार की विजेता ने गेंद से छेड़छाड़ के तूफान का डटकर सामना किया और हाल में भारत और पाकिस्तान के खिलाफ उनकी सरजमीं पर मिली जीत उसके ‘कभी न हार मानने के जज्बे’ का सबूत है।

 कभी वो दुनिया के नं. 1 गोल्फर थे। जहाँ जाते लोग एक झलक पाने के लिए कुछ भी करने को तैयार हो जाते। उनको देख कईयों का सर गर्व से तन जाता था। सब कुछ अच्छा चल रहा था, उसके बाद आया ऐसा भूचाल जिसने सभी कुछ बर्बाद कर दिया।

उत्‍तर प्रदेश के खेल मंत्री चौहान ने रविवार को ‘भाषा’ से बातचीत में कहा, ‘‘टीम में चौथे नम्‍बर के बल्‍लेबाज के चयन की समस्‍या अब भी बनी हुई है। यहीं पर टीम की कुछ कमजोरी है। यहां पर एक मजबूत खिलाड़ी होना चाहिये था। निजी तौर पर मैं समझता हूं कि इस स्‍थान पर बल्‍लेबाजी के लिये अजिंक्‍य रहाणे सबसे सही खिलाड़ी होते। रहाणे का इंग्‍लैंड में अच्‍छा प्रदर्शन रहा है मगर वह टीम में शामिल ही नहीं किये गये।’’

इस सम्मानित पैनल में चुने जाने पर अपनी खुशी जाहिर करते हुए लक्ष्मी ने मीडिया से कहा, ‘‘आईसीसी के अंतरराष्ट्रीय पैनल में चुना जाना मेरे लिए बहुत बड़ा सम्मान है।