Top

PWL में मां की खातिर सुशील कुमार को हराना चाहते हैं प्रवीण राणा

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 1 Jan 2018 7:26 AM GMT

PWL में मां की खातिर सुशील कुमार को हराना चाहते हैं प्रवीण राणा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : वीर मराठा टीम के स्टार खिलाड़ी प्रवीण राणा ने कहा है वह प्रो रेसलिंग लीग (पीडब्ल्यूएल) के आने वाले सीजन में दिल्ली सुल्तान्स के सुशील कुमार और यूपी दंगल के अब्दुराखमोनोव बेकजोद को मात देकर जीत को अपनी मां को समर्पित करना चाहते हैं। प्रवीण की मां इस समय तीसरी स्टेज के कैंसर से जूझ रही हैं। राणा का कहना है कि वह लीग के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

इन दोनों पहलवानों के बीच शुक्रवार को एशियन चैंपियनशिप और कॉमनवेल्थ गेम्स के ट्रायल के दौरान कुश्ती हुई थी, जिसमें सुशील ने प्रवीण को 7-3 से पराजित किया था। कुश्ती के दौरान और उसके बाद हुई घटनाओं से दोनों ही पहलवान बेहद आहत हैं।

प्रवीण राणा ने कहा कि पिछले दिनों दक्षिण अफ्रीका में हुई कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप के दौरान उनकी सुशील के साथ कुश्ती बेहद संघर्षपूर्ण रही थी। उस कुश्ती में वह केवल एक अंक से हारे, लेकिन उनमें इस बात का विश्वास जरूर पैदा हो गया था कि सुशील को आगे के मैचों में हराया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि ट्रायल मुकाबले में अंकों को लेकर उनके साथ ज्यादती हुई, लेकिन अब यह सब अतीत की बातें हो गई हैं। कुश्ती के दौरान और उसके बाद जो कुछ हुआ, वह दुर्भाग्यपूर्ण था, लेकिन वह अपना पूरा ध्यान कुश्ती पर केंद्रित कर रहे हैं और उन्हें प्रो रेसलिंग लीग में वीर मराठा की उम्मीदों पर खरे उतरना है।

उन्होंने कहा कि पीडब्ल्यूएल में उनके प्रदर्शन से ही उन्हें इस बात का अंदाजा लग सकता है कि वह सही दिशा में चल रहे हैं या नहीं और उनका शुरू से यह मानना रहा है कि जीत ही सब कुछ होती है और इसके लिए वह अपनी सारी ताकत झोंक देंगे। प्रवीण राणा ने कहा कि वह लीग के लिए पूरी तरह से फिट हैं।

दो साल पहले लेवान लोपेज के खिलाफ एक मुकाबले में उनका लिगामेंट टूट गया था लेकिन उन्होंने तब भी अपना पूरा मुकाबला लड़ा। वह इस वजह से बाहर नहीं बैठना चाहते थे। उन्होंने माना कि उससे उनका प्रदर्शन प्रभावित हुआ। अब फिटनेस के साथ उनमें आत्मविश्वास भी जगा है कि वह विश्व और ओलंपिक चैंपियनशिप के पदक विजेताओं को हरा सकते हैं।

अपनी टीम के बारे में उनका कहना है कि वीर मराठा काफी संतुलित टीम है। काफी कुछ लीग में खिलाड़ियों की ब्लॉकिंग पर भी निर्भर करेगा। हम फाइनल में पहुंच सकते हैं और उसके बाद कुछ भी हो सकता है। दिल्ली के कुतुबगढ़ इलाके के पहलवान प्रवीण राणा ने कहा कि योगेश्वर दत्त उनके आदर्श हैं। वह सबसे अधिक चार बार ओलंपिक में खेल चुके हैं और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में उनके शानदार प्रदर्शन से वह बेहद प्रेरित हुए हैं।

आईएएनएस

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story