Top

जहीर, राहुल की नियुक्ति पर अंतिम फैसला शास्त्री से चर्चा के बाद

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 15 July 2017 1:39 PM GMT

जहीर, राहुल की नियुक्ति पर अंतिम फैसला शास्त्री से चर्चा के बाद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम के सहयोगी स्टाफ को लेकर चल रहा विवाद अब एक नए और दिलचस्प मोड़ पर पहुंच गया है। सर्वोच्च अदालत द्वारा बीसीसीआई का कामकाज देखने के लिए बनाई गई प्रशासकों की समिति (सीओए) ने कहा है कि राहुल द्रविड़ और जहीर खान के नामों की सिर्फ सिफारिश की गई है।

इस संबंध में अंतिम फैसला मुख्य कोच नियुक्त किए गए रवि शास्त्री से चर्चा के बाद ही लिया जाएगा। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने एक नई चार सदस्यीय समिति का गठन किया है जो राहुल और जहीर की नियुक्ति पर अंतिम फैसला लेगी।

इस समिति में बोर्ड के कार्यवाहक अध्यक्ष सी.के. खन्ना, मानद सचिव अमिताभ चौधरी और सीओए की सदस्य तथा भारतीय महिला टीम की पूर्व खिलाड़ी डायना इडुल्जी का नाम शामिल है। समिति की बैठक के संयोजक बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी होंगे।

गौरतलब है कि मंगलवार को सौरव गांगुली, सचिन तेंदुलकर, वीवीएस लक्ष्मण की तीन सदस्यीय क्रिकेट सलाहाकार समिति (सीएसी) ने शास्त्री को मुख्य कोच नियुक्त करने के साथ ही द्रविड़ को विदेशी दौरों (टेस्ट) पर टीम का बल्लेबाजी सलाहकार और जहीर को गेंदबाजी सलाहकार नियुक्त किया था।

शास्त्री अपना अलग सहयोगी स्टाफ चाहते हैं। उन्होंने जहीर की जगह अपने करीबी दोस्त भरत अरुण को गेंदबाजी कोच बनाए जाने की पुरजोर वकालत की है।

बीसीसीआई में एक सूत्र ने कहा कि सीओए की शनिवार को हुई बैठक के बाद समिति मंगलवार को अपनी बैठक करेगी और शास्त्री से चर्चा के बाद द्रविड़ और जहीर की नियुक्ति पर अंतिम फैसला लेगी।

सूत्र के मुताबिक, "हां, चार सदस्यीय समिति को भारतीय टीम के सहायक कोचों की नियुक्ति पर अंतिम फैसला लेने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।"

सूत्र ने बताया, "समिति मंगलवार को बैठक करेगी और फिर सहायक प्रशिक्षकों के वेतन और करार पर फैसला लेगी।"

उन्होंने कहा, "अगर समिति मंगलवार को फैसला नहीं ले पाती है तो यह 22 जुलाई को फिर बैठक करेगी। समिति साथ ही टीम मैनेजर के बारे में भी चर्चा करेगी।"

सीओए के अध्यत्र विनोद राय ने शनिवार को कहा कि द्रविड़ और जहीर के नामों की सिर्फ सिफारिश की गई है इस पर अंतिम फैसला नए मुख्य कोच शास्त्री से मिलने के बाद ही लिया जाएगा।

राय ने संवाददाताओं से कहा, "सीएसी ने सिर्फ सिफारिश की है। अभी तक जहीर और द्रविड़ के साथ किसी तरह का करार नहीं हुआ है। इन दोनों को अभी तक नियुक्त नहीं किया गया है।"

उन्होंने कहा, "सहयोगी स्टाफ पर अंतिम फैसला शास्त्री से सलाह के बाद ही लिया जाएगा।"

इससे पहले शुक्रवार को गांगुली ने कहा था कि जहीर को 150 दिनों के अनुबंध का प्रस्ताव दिया गया है।

गांगुली ने कहा था, "जहीर को 150 दिनों तक के लिए अनुबंधित किया गया है।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story