Top

RIO : बोम्बायला और दीपिका के हार के साथ ही महिला तीरंदाजी में चुनौती खत्म

aman

By aman

Published on 11 Aug 2016 3:13 PM GMT

RIO : बोम्बायला और दीपिका के हार के साथ ही महिला तीरंदाजी में चुनौती खत्म
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रियो डी जेनेरियो : भारत की ओलंपिक महिला तीरंदाजी स्पर्धा में चुनौती लैशराम बोम्बायला देवी और दीपिका कुमारी के अपने-अपने प्री क्वार्टर फाइनल मैच हारने के बाद समाप्त हो गई। दीपिका को दुनिया की नंबर दो चीनी ताइपे की टान या टिंग से 0-6 से जबकि बोम्बायला को मेक्सिको की एलेजांद्रा वेलेंसिया से 2-6 से पराजय मिली।

दीपिका शुरुआत से थीं दबाव में

भारतीयों में सबसे पहले दीपिका ने निशाना साधा। वह सही समय पर अपने खेल में सुधार नहीं कर सकी और एकतरफा मुकाबले में 27-28, 26-29, 27-30 से हार गईं। वह केवल एक बार ही बुल्स आई पर निशाना लगा पाईं। दुनिया की पूर्व नंबर एक तीरंदाज शुरू से ही या टिंग के खिलाफ दबाव में दिख रही थीं। विपक्षी तीरंदाज संयमित होकर आराम से खेल रही थी, उसने सिक्स परफेक्ट 10 पर निशाना लगाया जिसमें से तीन लगातार तीसरे सेट में लगे।

बोम्बायला ने भी दोहरायी वही गलती

बोम्बायला की भी शुरुआत अच्छी नहीं हुई। इसके बाद वह भी दबाव में आ गई और 26-28, 26-23, 27-28, 23-25 से हार गई। तीसरा सेट करीब से हारने के बाद भारतीय तीरंदाज वापसी नहीं कर सकी। उसने चौथे सेट के पहले तीर में 6 का खराब निशाना लगाया जिसके बाद वापसी असंभव थी।

अब तीरंदाजी में भारतीय चुनौती पुरुष स्पर्धा में ही बची है जिसमें एकमात्र अतनु दास प्रतिनिधत्व कर रहे हैं। वह कल अपना प्री क्वार्टर फाइनल खेलेंगे।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story