Top

कर्नाटक से तलाक ले उथप्पा हुए केरल के, डेव व्हाटमोर भी आए पाले में

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 20 Jun 2017 11:21 AM GMT

कर्नाटक से तलाक ले उथप्पा हुए केरल के, डेव व्हाटमोर भी आए पाले में
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

तिरुवनंतपुरम : कर्नाटक की रणजी टीम का 15 साल तक प्रतिनिधित्व करने के बाद टीम से अलग हुए भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी रोबिन उथप्पा अब केरल क्रिकेट संघ की रडार पर हैं। केरल हर हाल में उथप्पा को अपनी टीम में शामिल करना चाहता है। एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी।

केरल संघ के सचिव जयेश जॉर्ज ने कहा कि उन्होंने उथप्पा के साथ करार की इच्छा व्यक्त कर दी थीा।

जॉर्ज ने कहा, "वह कर्नाटक टीम से बाहर आ गए हैं और हमने एक पत्र के जरिए उनके सामने अपनी पेशकश रख दी है। हमें पता चला है कि वह अभी देश से बाहर हैं। एक बार वह वापस आ जाएं, तो हम उनसे चर्चा कर लेंगे। हम आश्वस्त हैं कि वह जल्द ही केरल की टीम से खेलेंगे।"

केरल के साथ उथप्पा का पुराना रिश्ता है। उनकी मां केरल की हैं और पिता कुर्ग के हैं, जो भारत के कर्नाटक राज्य का एक जिला है।

जॉर्ज ने कहा कि केरल के लिए पिछले सीजन में खेलने वाले जलत सक्सेना इस सीजन में भी टीम के लिए खेलना जारी रखेंगे।

हाल ही में आस्ट्रेलिया के दिग्गज खिलाड़ी डेव व्हाटमोर को केरल के नए कोच के रूप में नियुक्त किया गया। उन्होंने इससे पहले सफल रूप से कई अंतर्राष्ट्रीय टीमों का मार्गदर्शन किया है और वह छह माह तक अब केरल के कोच का पदभार संभालेंगे।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story