×

रोहित को कप्तान बनाने की फिर से शुरू हुई चर्चा, पूर्व चीफ सेलेक्टर का दावा

Rohit Sharma: पूर्व चीफ सिलेक्टर किरण मोरे ने कहा कि रोहित शर्मा टी-20 का कप्तान बनाया जा सकता है।

Vijay Kumar Tiwari

Vijay Kumar TiwariWritten By Vijay Kumar TiwariShreyaPublished By Shreya

Published on 29 May 2021 8:13 AM GMT

रोहित को कप्तान बनाने की फिर से शुरू हुई चर्चा, पूर्व चीफ सेलेक्टर का दावा
X

रोहित शर्मा - विराट कोहली (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Rohit Sharma: भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) के लिए एक बार फिर अलग-अलग कप्तानों की चर्चा शुरू हो गई है। अबकी बार पूर्व चीफ सिलेक्टर किरण मोरे (Kiran More) ने एक मीडिया इंटरव्यू में कहा है कि रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को सीमित ओवरों वाले फॉर्मेट अर्थात टी-20 का कप्तान बनाया जा सकता है। यह करने से विराट कोहली (Virat Kohli) के ऊपर से प्रेशर कम होगा और भारतीय क्रिकेट टीम में और अधिक प्रतिस्पर्धा देखने को मिलेगी।

दरअसल किरण मोरे ने एक मीडिया इंटरव्यू में कहा है कि टेस्ट और सीमित ओवरों के लिए अलग-अलग कप्तान हो सकते हैं। इसलिए भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली का वर्क लोड कम करने के लिए अलग-अलग फॉर्मेट में अलग-अलग कप्तान बनाए जाने पर चर्चा होनी चाहिए। साथ ही किरण मोरे ने यह भी कहा है कि भारतीय क्रिकेट टीम के एक के बाद एक मैचों के शेड्यूल को देखते हुए अलग-अलग फॉर्मेट में अलग-अलग कप्तान के फार्मूले पर विचार किया जाना जरूरी हो गया है।

सभी फॉर्मेट में अच्छा प्रदर्शन करना संभव नहीं

किरण मोरे ने इस बात को भी क्लीयर किया कि महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में निकलने वाले विराट कोहली एक चालाक किस्म के कप्तान जरूर हैं, लेकिन तीनों फॉर्मेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर पाना किसी एक के लिए संभव नहीं है। इसलिए इस तरह के विचार पर चर्चा करना जरूरी है।

किरण मोरे ने यह भी बताया कि खुद कोहली को यह भी सोचना होगा कि वनडे और टी-20 में वह कितने समय तक कप्तानी कर सकते हैं। हो सकता है इंग्लैंड दौरे के समय या उसके बाद आप इस तरह की चर्चा सुनना शुरू कर दें।

विराट कोहली- रोहित शर्मा (फाइल फोटो साभार- सोशल मीडिया)

रोहित रखते हैं कप्तानी का अच्छा अनुभव

आपको बता दें कि भारतीय टीम इंग्लैंड दौरे के दौरान आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का खिताबी मुकाबला और इंग्लैंड के खिलाफ 5 मैचों की टेस्ट सीरीज खेलेगी। इसके साथ ही भारतीय टीम 2 जून को इंग्लैंड के लिए रवाना होगी। रोहित शर्मा को कप्तानी का अच्छा खासा अनुभव है। रोहित आईपीएल में मुंबई इंडियंस टीम के कप्तान हैं और उन्होंने अपनी टीम को चैम्पियन भी बनाया है।

रोहित ने टीम के लिए 10 वनडे और 19 टी20 मैचों में कप्तानी की है। उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने 8 वनडे मैच और 14 टी-20 मुकाबले में जीत हासिल की है। रोहित शर्मा ने टीम इंडिया को एशिया कप और निदाहास ट्रॉफी जैसे टूर्नामेंट में चैम्पियन बनाया है।

आईसीसी बिल्डिंग (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

ICC का बड़ा ऐलान, WTC फाइनल में लागू होगा ये नियम

World Test Championship Final: वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप (WTC) का फाइनल मैच भारत (India) और न्यूजीलैंड (New Zealand) के बीच इंग्लैंड में खेला जाएगा। अब इस मैच से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है। अगर WTC का फाइनल मैच ड्रॉ या टाई हो जाता है तो दोनों टीमें संयुक्त रूप से विजेता घोषित की जाएंगी। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने यह बड़ा ऐलान किया है।

आईसीसी की तरफ से फाइनल मैच को लेकर प्लेइंग कंडीशन्स का एलान किया गया है। आईसीसी ने बताया कि मैच ड्रॉ या टाई हो जामे पर दोनों टीमों को संयुक्त विजेता घोषित किया जाएगा और ट्रॉफी दी जाएगी। साथ ही बताया कि 23 जून को रिजर्व किया गया है, क्योंकि अगर पहले पांच दिन में 30 घंटों का खेल नहीं होता है तो रिजर्व डे का इस्तेमाल किया जाएगा।

ICC ने किए बड़े बदलाव

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेल के नियमों में तीन बड़े बदलाव किए गए हैं जो WTC फाइनल में शामिल किय जाएगा। इन नियमों को बांग्लादेश और श्रीलंका के बीच मौजूदा विश्व कप सुपर लीग सीरीज में लागू किया गया था। ये नियम शॉर्ट रन, खिलाड़ियों की समीक्षा और डीआरएस समीक्षा से संबंधित हैं।

आईसीसी (कॉन्सेप्ट फोटो साभार- सोशल मीडिया)

शॉर्ट रन केस को तीसरा अंपायर मैदानी अंपायर के शॉर्ट रन के किसी भी फैसले की खुल ही समीक्षा करेगा, लेकिन अगली गेंद फेके जाने से पहले अपना फैसला मैदानी अंपायर को बताना होगा।

एलबीडब्ल्यू का फैसला समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) लेने से पहले फील्डिंग कर रही टीम का कप्तान या आउट बल्लेबाज अंपायर से यह पुष्टि कर सकता है कि क्या गेंद को खेलने की वास्तविक कोशिश की गई थी। एलबीडब्ल्यू के लिए ही डीआरएस लेने के लिए विकेट क्षेत्र का दायरा बढ़ाकर स्टंप के शीर्ष तक किया गया है।

टेस्ट क्रिकेट में दर्शकों की दिलचिस्पी बढ़ाने के मकसद से WTC की शुरुआत हुई थी। कोरोना संकट के चलते चैम्पियनशिप के ज्यादा नहीं खेले गए। टीम इंडिया पूरे टूर्नामेंट के समय अच्छा प्रदर्शन करने में सफलता हासिल की है। विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय टीम ने प्वाइंट्स टेबल में पहले स्थान पर कब्जा किया है जबकि न्यूजीलैंड की टीम दूसरे स्थान पर रही।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story