Top

सचिन तेंदुलकर ने किया ये बड़ा खुलासा, जिसे सुन कर हो जाएंगे आप हैरान!

भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज बल्लेबाज और क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने अपनी एक अलग पहचान बना ली है। हालही में उन्होंने अपने जीवन से जुड़ा एक बड़ा खुलासा किया है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 26 Oct 2019 5:34 AM GMT

सचिन तेंदुलकर ने किया ये बड़ा खुलासा, जिसे सुन कर हो जाएंगे आप हैरान!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज बल्लेबाज और क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने अपनी एक अलग पहचान बना ली है। हालही में उन्होंने अपने जीवन से जुड़ा एक बड़ा खुलासा किया है। महान भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने 25 अक्टूबर शुक्रवार को खुलासा किया कि पहले चयन ट्रायल के दौरान उनका चयन नहीं किया गया था, जिसने उन्हें अपने खेल पर और कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित किया।

ये भी देखें:टेक्नो में “अनुस्मरण-2019” एल्युमनाई मीट का आयोजन

सचिन तेंदुलकर

सचिन तेंदुलकर ने मराठी में लक्ष्मणराव दुरे स्कूल के छात्रों के साथ बात करते हुए कहा, "जब मैं छात्र था तो मेरे दिमाग में सिर्फ एक ही चीज थी, भारत के लिए खेलना। मेरी यात्रा 11 साल की उम्र में शुरू हुई थी। मुझे यहां तक याद है कि जब मैं अपने पहले चयन ट्रायल के लिए गया था तो मुझे चयनकर्ताओं ने चुना नहीं था।"

अच्छी बल्लेबाजी की, पर सफलता नहीं मिली

उन्होंने कहा, "चयनकर्ताओं ने मुझे और कड़ी मेहनत करके खेल में सुधार करने की जरूरत है। उस समय मैं निराश था, क्योंकि मुझे लगा कि मैं अच्छी बल्लेबाजी करता था, लेकिन नतीजा उम्मीदों के अनुरूप नहीं था और मुझे नहीं चुना गया था। इसके बाद मेरा ध्यान, प्रतिबद्धता और कड़ी मेहनत करने की क्षमता और ज्यादा बढ़ गई। अगर आप अपने सपनों को साकार करना चाहते हो तो 'शॉर्ट-कट' से मदद नहीं मिलती।"

ये भी देखें:सावधान-रखें ध्यान: अगर ऐसे ऑनलाइन पेमेंट किया, तो गायब होंगे सारे पैसे

सचिन बोले- इन लोगों ने किया सहयोग

इस यात्रा में सहयोग करने के लिए तेंदुलकर ने अपने परिवार और कोच रमाकांत अचरेकर को श्रेय दिया, जिनका हाल ही में देहांत हो गया।

उन्होंने कहा, "मेरी सफलता मुझे अपने परिवार के सभी सदस्यों की मदद से मिली। मैं अपने माता-पिता से शुरुआत करूंगा, जिनके बाद मेरे भाई अजीत और बड़े भाई नितिन ने सहयोग किया। मेरी बड़ी बहन (जो शादी के बाद पुणे में हैं) ने मेरी मदद की, बल्कि मेरी बहन ने मुझे मेरी जिंदगी का पहला क्रिकेट बल्ला भेंट किया था। शादी के बाद पत्नी अंजलि और बच्चे सारा और अर्जुन तथा अंजलि के माता-पिता ने मेरा सहयोग किया। मेरे अंकल और आंटी और कई अन्य लोग भी इसके लिए मौजूद रहे और अंत में निश्चित रूप से रमाकांत अचरेकर सर।"

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story