Top

घर में नहीं दाने अम्मा चली भुनाने ! पाकिस्तान को चाहिए चैम्पियंस ट्रॉफी

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 27 May 2017 9:41 AM GMT

घर में नहीं दाने अम्मा चली भुनाने ! पाकिस्तान को चाहिए चैम्पियंस ट्रॉफी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बर्मिघम : आईसीसी रैंकिंग में आठवें पायदान पर मौजूद पाकिस्तान टीम के कप्तान सरफराज खान को अगले महीने से शुरू होने जा रही चैम्पियंस ट्रॉफी में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है। उनका कहना है कि उनकी टीम टूर्नामेंट में अपना सब कुछ दांव पर लगा देगी, क्योंकि उसके पास खोने के लिए कुछ नहीं है।

ये भी देखें : ये रही चैंपियंस ट्रॉफी में खेलने वाली आठों टीम की पूरी प्लेयर लिस्ट, परखो दम !

पाकिस्तान ने अभी तक चैम्पियंस ट्रॉफी नहीं जीती है, लेकिन इस बार टीम की कोशिश पहली बार खिताब जीतने की होगी। चैम्पियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान का पहला मुकाबला भारत से चार जून को होना एजबेस्टन में होना है।

सरफराज ने कहा, "हमारे पास खोने को कुछ नहीं है। हम बस अपना स्वाभाविक खेल खेलना चाहते हैं। वेस्टइंडीज में हमने अच्छा प्रदर्शन किया था।"

उन्होंने कहा, "हमें उम्मीद है कि इस टूर्नामेंट में हम अच्छा प्रदर्शन करेंगे और खिताब अपने नाम करेंगे। यह हमारे लिए अच्छा समय है।"

उन्होंने कहा, "वेस्टइंडीज के खिलाफ हमने अपनी फील्डिंग में सुधार किया था। वहां सिर्फ एक-दो कैच ही छूटे थे।"

सरफराज ने कहा, "हम अपने आप को कुछ अलग करने वाली टीम की तरह नहीं देखते हैं। हम यहां आकर स्वतंत्र होकर क्रिकेट खेलना चाहते हैं। हम मैच दर मैच खेल पर ध्यान देंगे।"

फरवरी में टीम की कमान मिलने के बाद सरफराज का यह पहला आईसीसी टूर्नामेंट है। उन्होंने अभी तक अपनी कप्तानी के चार मैचों में से तीन में जीत हासिल की है।

इस पर सरफराज ने कहा, "यह मेरा कप्तान को तौर पर पहला बड़ा टूर्नामेंट है। मैं इस टूर्नामेंट में सकारात्मक और उत्साही होकर आया हूं।"

उन्होंने कहा, "मेरा लक्ष्य अपना स्वभाविक खेल खेलना होगा। मैं किसी भी दबाव में नहीं खेलूंगा। मैं उसी तरह से खेलूंगा, जैसा घरेलू क्रिकेट में खेलता हूं।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story