Sport : यूएई ने दिया आईपीएल की मेजबानी का प्रस्ताव

Published by Roshni Khan Published: May 15, 2020 | 5:04 pm
Modified: May 15, 2020 | 5:05 pm

नई दिल्ली। बोर्ड ऑफ क्रिकेट कंट्रोल इन इंडिया ने इंडियन प्रीमियर लीग के 2020 सीजन को अनिश्चित समय तक स्थगित कर दिया गया है। पहले श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने आईपीएल को होस्ट करने का प्रस्ताव दिया था और अब यूनाइटेड अरब अमीरात  ने भी टूर्नामेंट होस्ट करने का प्रस्ताव दिया है।

बीसीसीआई कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने कहा, “अगर हम चाहें तो यूएई ने हमें आईपीएल होस्ट करने का प्रस्ताव दिया है। फिलहाल किसी तरह की इंटरनेशनल यात्रा संभव नहीं है तो फिर इस बात पर कोई निर्णय लेने का कोई मतलब नहीं है।” इससे पहले 2014 में लोकसभा चुनावों की तारीख टकराने के कारण यूएई ने आईपीएल के 20 मैचों का आयोजन किया था।

भारत में मुश्किल

कोरोना वायरस के बावजूद बीसीसीआई  ने आईपीएल  के आयोजन की उम्मीद नहीं छोड़ी है। हालांकि, भारत में आईपीएल  के आयोजन के लिए भी इसके खाली स्टेडियम में आयोजित होने की उम्मीदें ज़्यादा हैं। यदि आईपीएल का आयोजन खाली स्टेडियम में कराया गया तो फ्रेंचाइजियों को टिकट से कमाई का घाटा होगा।

2009 में दक्षिण अफ्रीका में आईपीएल का आयोजन कराया गया था और वहां बीसीसीआई को काफी पैसे खर्च करने पड़े थे। हालांकि, दुबई में हुए 20 मैचों के लिए बोर्ड को बहुत ज़्यादा पैसे नहीं खर्च करने पड़े। यदि आईपीएल  का आयोजन केवल टीवी दर्शकों के लिए कराया जाता है तो भी दुबई और श्रीलंका की टाइमिंग भारत से ज़्यादा अलग नहीं है तो भारतीय दर्शकों पर खास असर नहीं पड़ेगा।

विदेशी खिलाड़ियों के बिना बेकार

आईपीएल  का आयोजन विदेशी खिलाड़ियों के बिना भी कराए जाने पर विचार हो चुका है, लेकिन अब चेन्नई सुपरकिंग्स का कहना है कि इस तरह टूर्नामेंट सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी हो जाएगा।

सीएसके  के करीबी सूत्र ने कहा कि टीम केवल भारतीय खिलाड़ियों के साथ आईपीएल खेलने के लिए राजी नहीं है। विदेशी खिलाड़ी नहीं रहे तो यह भी सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी खेलने जैसा हो जाएगा। परिस्थितियां लगातार खराब होती जा रही हैं और फ्रेंचाइजी लंबे समय से बीसीसीआई  के साथ संपर्क में नहीं है।

भले ही सीएसके केवल भारतीय खिलाड़ियों के साथ खेलने को तैयार नहीं है, लेकिन हाल ही में राजस्थान रॉयल्स को एक्सीक्यूटिव चेयरमैन रंजीत बारठाकुर ने ऐसा करने का सुझाव दिया था। उन्होंने कहा, “पहले हम केवल भारतीय खिलाड़ियों के साथ आईपीएल के बारे में नहीं सोच सकते थे, लेकिन अब ऐसा सोचने के लिए हमारे पास पर्याप्त क्वालिटी है। गेम  रद्द करने से अच्छा है कि इसे केवल भारतीय खिलाड़ियों के साथ खेला जाए।”