Top

Sports : भारतीय टीम का दक्षिण अफ्रीका से होगा रोमांचक मुकाबला

seema

seemaBy seema

Published on 5 Jan 2018 11:49 AM GMT

Sports  :  भारतीय टीम का दक्षिण अफ्रीका से होगा रोमांचक मुकाबला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : टीम इंडिया तीन टेस्ट मैच, 6 वनडे और तीन टी-20 मैच खेलने के लिए दक्षिण अफ्रीका में है। दक्षिण अफ्रीका के साथ भारतीय टीम की भिड़ंत काफी रोमांचक होने की उम्मीद है। दोनो देशों के मुकाबलों में सबसे अहम बात यह है कि भारतीय टीम आज तक दक्षिण अफ्रीका को उसके देश में कोई भी टेस्ट सीरीज नहीं हरा सकी है। भारतीय टीम का का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन साल 2010-11 में रहा था जब धोनी के नेतृत्व में टीम तीन मैचों की सीरीज को 1-1 से ड्रॉ कराने में सफल रही थी।

अभी तक प्रदर्शन नहीं रहा है अच्छा

दक्षिण अफ्रीका की धरती पर भारतीय टीम का प्रदर्शन काफी खराब रहा है। भारत ने अफ्रीका में खेले गए 17 टेस्ट मैचों में केवल दो में जीत दर्ज की है, जबकि 8 में उसे हार का सामना करना पड़ा है और 7 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं। अफ्रीका दौरे पर विराट से उम्मीद होगी कि वे साउथ अफ्रीका में जीत के सूखे को खत्म करें। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टेस्ट शृंखला का पहला मैच 5 जनवरी से केपटाउन में होना है। मुकाबले से पहले टीम के खिलाडिय़ों ने हल्की-फुल्की मस्ती कर खुद को तरोताजा किया। इसी दौरान केपटाउन में भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली और सलामी बल्लेबाज शिखर धवन वहां के म्यूजिक पर भांगड़ा करते नजर आए।

दक्षिण अफ्रीका की टीम बेहद संतुलित

विराट कोहली की अगुवाई में टीम इंडिया का दक्षिण अफ्रीका दौरा रोमांचक होगा। दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम भारत के सामने इस दौरे में अपने जीत के क्रम को बरकरार रखने की बड़ी चुनौती है। टेस्ट क्रिकेट के लिहाज से बात करें तो दक्षिण अफ्रीका की टीम बेहद संतुलित है और वह भारत के बाद दुनिया की नंबर दो टीम है। ऐसे में दोनों देशों के बीच का यह मुकाबला फैंस को रोमांचक क्रिकेट का मौका देगा। भारत के सामने इस दौरे में अपने जीत के क्रम को बरकरार रखने की बड़ी चुनौती है। कोहली के नेतृत्व में भारतीय टीम ने वर्ष 2017 में अपने घरेलू मैदान पर क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में सफलता हासिल की है। टीम इंडिया को इस दौरे में दिखाना होगा कि वह विदेशी मैदानों पर अपनी सफलता को दोहराना जानती है।

यह भी पढ़ें : सनथ जयसूर्या के आए इतने बुरे दिन, अब बैसाखियों के सहारे चलने को हैं मजबूर

भारतीय गेंदबाजों के मुसीबत होंगे अमला

हाशिम अमला

भारतीय मूल के हाशिम अमला का तीनों फॉर्मेट में जबर्दस्त रिकॉर्ड है। टेस्ट क्रिकेट में अमला 49.61 के औसत से 8583 रन बना चुके हैं। इसमें नाबाद 311 उनका सर्वोच्च स्कोर है। अमला को कोहली के साथ दुनिया के बेहतरीन टेस्ट बल्लेबाजों में शुमार किया जाता है। वे 28 टेस्ट शतक लगा चुके हैं। सेट होने के बाद लंबी पारी खेलने में अमला को महारत हासिल है। ऐसे में वे भारतीय गेंदबाजों के लिए मुश्किल खड़ी कर सकते हैं।

धाकड़ बल्लेबाज हैं डुप्लेसिस

कप्तान डुप्लेसिस

सीरीज में दक्षिण अफ्रीका की टेस्ट टीम के कप्तान डुप्लेसिस हैं। टेस्ट क्रिकेट में इस खिलाड़ी ने 46.54 के प्रभावी औसत से 2839 रन बनाए हैं। अमला के बाद उन्हें टेस्ट में दक्षिण अफ्रीकी टीम का सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज माना जाता है। अमला की ही तरह डुप्लेसिस लंबी पारी खेलने के लिए जाने जाते हैं। 45 टेस्ट में वे 7 शतक और 15 अर्धशतक लगा चुके हैं। भारत के लिए वे भी चुनौती बन सकते हैं।

रबाडा का सामना करना आसान नहीं

कागिसो रबाडा

22 साल के कागिसो रबाडा दक्षिण अफ्रीका के प्रमुख तेज गेंदबाज हैं। 22 वर्ष के इस अश्वेत खिलाड़ी ने 23 टेस्ट में 22.29 के बेहतरीन औसत से 105 विकेट लिए हैं। 140+ की गति से गेंद फेंकने वाले रबाडा विकेट से अच्छा उछाल पाने में भी सफल रहते हैं। चूंकि डेल स्टेन ने हाल ही में चोट से उबरने के बाद टीम में वापसी की है। ऐसे में रबाडा के पास भारत की मजबूत बल्लेबाजी का ध्वस्त करने का जिम्मा होगा।

धज्जियां उड़ाने में सक्षम डिविलियर्स

एबी डिविलियर्स

एबी डिविलियर्स अपने दिन किसी भी गेंदबाजी आक्रमण की धज्जियां बिखेर सकते हैं। हालांकि तेज बल्लेबाजी करने के कारण वे गेंदबाजों को मौके भी देते हैं, लेकिन उन्हें जल्द आउट करने के लिए भारतीय गेंदबाजों को खास रणनीति तैयार करनी होगी। यह तय है कि विकेट के हर तरफ शॉट लगाने में माहिर एबी यदि टिके तो मैच का रुख बदल सकते हैं। दक्षिण अफ्रीका के सबसे अनुभवी बल्लेबाजों में शुमार डिविलियर्स ने 107 टेस्ट में आठ हजार से अधिक रन बनाए हैं। उनका औसत 50.47 का है। टेस्ट में डिविलियर्स 21 शतक लगा चुके हैं।

डेल स्टेन की टीम में वापसी

डेल स्टेन

34 साल के डेल स्टेन दक्षिण अफ्रीका के सबसे अनुभवी तेज गेंदबाजों में से हैं। स्टेन ने चोट से उबरने के बाद हाल ही में दक्षिण अफ्रीका टीम में वापसी की है। ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि वे भारतीय बल्लेबाजों पर कितना असर छोड़ पाते हैं। वैसे 85 टेस्ट में 22 के आसपास के औसत से 417 विकेट स्टेन की महानता की कहानी खुद बयां करते हैं।

वेरोन फिलेंडर गेंद मूव कराने में माहिर

वेरोन फिलेंडर

डेल स्टेन और कागिसो रबाडा के अलावा वेरोन फिलेंडर भी भारतीय बल्लेबाजी में सेंध लगाने में सक्षम हैं। अच्छी गति से गेंद फेंकने वाले 32 साल के फिलेंडर गेंद को दोनों तरफ मूव करा सकते हैं। महज 47 टेस्ट में वे 22.37 के औसत से 173 विकेट ले चुके हैं। दो बार वे मैच में 10 या इससे अधिक विकेट ले चुके हैं। फिलेंडर के गेंदबाजी कौशल का अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने सात मैचों में ही 50 विकेट पूरे कर लिए थे।

केशव महाराज यानी दक्षिण अफ्रीका के तरकश का एक खास तीर

दक्षिण अफ्रीका का ये स्पिनर भारतीय बल्लेबाजी के लिए काल बन सकता है। भारतीय मूल के केशव महाराज ने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया में पर्थ में केशव ने डेब्यू किया था। जल्द ही वह दक्षिण अफ्रीका की टेस्ट टीम के एक जरूरी खिलाड़ी बन गए। वह गेंदबाजी में अफ्रीकी टीम के मुख्य हथियार हैं। 2017 में केशव महाराज ने दस टेस्ट मैच खेले। विभिन्न परिस्थितियों में खेले गए ये टेस्ट मैच उनकी काबिलियत को दिखाते हैं। 2017 में केशव ने 10 टेस्ट मैचों में 24.76 की औसत से 43 विकेट लिए हैं तथा उनका स्ट्राइक रेट 49.3 है।

seema

seema

सीमा शर्मा लगभग ०६ वर्षों से डिजाइनिंग वर्क कर रही हैं। प्रिटिंग प्रेस में २ वर्ष का अनुभव। 'निष्पक्ष प्रतिदिनÓ हिन्दी दैनिक में दो साल पेज मेकिंग का कार्य किया। श्रीटाइम्स में साप्ताहिक मैगजीन में डिजाइन के पद पर दो साल तक कार्य किया। इसके अलावा जॉब वर्क का अनुभव है।

Next Story