Top

नौवां गोल्ड मेडल जीतने के साथ उसैन बोल्ट ने ओलंपिक को कहा अलविदा

By

Published on 20 Aug 2016 3:31 PM GMT

नौवां गोल्ड मेडल जीतने के साथ उसैन बोल्ट ने ओलंपिक को कहा अलविदा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रियो डी जेनेरियो: दुनिया के सबसे तेज स्प्रिंटर उसैन बोल्ट ने शनिवार को रियो ओलंपिक में तीसरा और अब तक का नौवां ओलंपिक गोल्ड जीता। इसके साथ ही 29 साल के इस महानतम धावक ने ओलंपिक को अलविदा कह दिया है। यानी अब टोक्यो ओलंपिक में ट्रैक पर कोई नया स्प्रिंटर गोल्ड जीत सकेगा।

शनिवार को 4x100 मीटर रिले दौड़ में बोल्‍ट ने अपना आखिरी ओलंपिक गोल्ड जीता। जमैका की टीम ने 4x100 मीटर रिले 37.27 सेकेंड समय में पूरी की। यह इस सीजन में उसका अब सबसे अच्छा समय है। बीजिंग, लंदन और रियो तीनों ओलंपिक्स में बोल्ट ने 100 मीटर, 200 मीटर और 4x100 मीटर इवेंट में गोल्ड पर कब्जा किया।

अलविदा कहने के बाद क्या बोले बोल्ट

बोल्ट ने कहा कि उनका 'मिशन ओलंपिक' अब पूरा हो चुका है। मेरे अंदर मिलीजुली भावनाएं हैं। लेकिन राहत ये है कि मैंने नौ सालों तक जो दबाव सहा है वह अब खत्म हो गया है। बोल्ट ने कहा कि मुझे स्पर्धा में उतरना अच्छा लगता है। मैं यह सब याद करूंगा। मेरा करियर बहुत अच्छा रहा है। मैंने दुनिया को दिखा दिया है कि मैं इस खेल का महान खिलाड़ी हूं।

आगे क्या करेंगे

ओलंपिक से रिटायरमेंट के बाद अपनी नई पारी को लेकर बोल्ट ने कहा- मैं जमैका जा रहा हूं। वहां मुझे लोगों से ढेर सारा प्यार मिलेगा। वहां जाने के बाद सोचूंगा कि आगे क्या करना है। अब नये गोल बनाने होंगे। उससे पहले छुट्टियों पर जाऊंगा और आराम करूंगा।

प्रशंसकों के प्यारे बोल्ट

बोल्ट की पूरी दुनिया में लोकप्रियता चरम पर रही है। दुनिया के हर कोने में उनके प्रशंसक हैं। धरती के सबसे तेज धावक, रफ्तार के बादशाह, चैंपियन ना जाने कितने नामों से लोग उन्हें पुकारते हैं। बोल्ट खुशनुमा व्यक्ति हैं। हमेशा उनके चेहरे पर लंबी मुस्कुराहट होती है।

Next Story