Top

आईपीएल के छक्के-चौके के बाद, अब सुपर बॉक्सिंग लीग में लीजिए दे दना दन का मजा

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 5 Jun 2017 3:42 PM GMT

आईपीएल के छक्के-चौके के बाद, अब सुपर बॉक्सिंग लीग में लीजिए दे दना दन का मजा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : भारत के पहले पेशेवर मुक्केबाजी टूर्नामेंट 'सुपर बॉक्सिंग लीग' (एसबीएल) का आयोजन विश्व मुक्केबाजी परिषद (डब्ल्यूबीसी) और भारतीय पेशेवर मुक्केबाजी संगठन (पीबीओआई) के सहयोग से आयोजित की जाएगी। पीबीओआई को एशियाई मुक्केबाजी परिषद से मान्यता प्राप्त है।

एसबीएल का पहला संस्करण सात जुलाई से 12 अगस्त तक आयोजित किया जाएगा। इस लीग को ब्रिटेन के व्यवसायी बिल दोसांझ और दो बार के विश्व विजेता आमिर खान मिलकर आयोजित करा रहे हैं, जो दुनिया भर से मुक्केबाजों को इस लीग में लेकर आएंगे।

ये भी देखें : ICC चैम्पियंस ट्रॉफी : बांगलादेश ने जीता टॉस, पहले बल्लेबाजी का निर्णय

बिल दोसांझ ने इस पर कहा, "हम पहला पेशेवर मुक्केबाजी टूर्नामेंट आयोजित करा कर एक उदाहरण पेश करना चाहते हैं। हम इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि डब्ल्यूबीसी के विशाल अनुभव के दम पर हम एसबीएल के पहले संस्करण को सफलता पूर्वक आयोजित कराते हुए प्रशंसकों के सामने नई ऊंचाई तय करेंगे।"

लीग के पहले संस्करण में अनुभवी और युवा मुक्केबाजों का मिश्रण देखने को मिलेगा। लीग में प्रत्येक फ्रेंचाइजी के लिए आठ मुक्केबाज हिस्सा लेंगे।

आमिर खान ने कहा, "मैं सभी मुक्केबाजों का लीग में स्वागत करता हूं। मुझे पूरा विश्वास है कि इस लीग में हम नए आयाम तय करेंगे। यह लीग भारत में पेशेवर मुक्केबाजी को बढ़ावा देगी।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story