Top

क्रिकेट पे राजनीति, अखिलेश ने चला मास्‍टरस्‍ट्रोक, चित्‍त होंगे सीएम योगी

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 5 Nov 2018 2:07 PM GMT

क्रिकेट पे राजनीति, अखिलेश ने चला मास्‍टरस्‍ट्रोक, चित्‍त होंगे सीएम योगी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: राजधानी में मंगलवार होने जा रहे टी 20 मैच को लेकर राजनीति चरम पर है। इंडिया और वेस्‍ट इंडीज के साथ इकाना स्‍टेडियम में होने वाले मैच को लेकर सियासत तेज हो गई है। इसी के साथ योगी सरकार ने जहां इकाना स्‍टेडियम का नामकरण दिवंगत पीएम भारतरत्‍न अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर अटल बिहारी वाजपेयी अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍टेडियम किया। वहीं खबर आ रही है कि अखिलेश ने अपना मास्‍टर स्‍ट्रोक पहले ही चल दिया था। अब कल होने वाले मैच में इसका असर देखने को मिल सकता है।

ये भी देखें: इकाना इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम नहीं अटल बिहारी स्टेडियम कहिए जनाब

लग सकते हैं जय अखिलेश के नारे

समाजवादी पार्टी के सूत्रों की मानें तो दस हजार से अधिक कार्यकर्ताओं ने मैच के टिकट खरीद लिए हैं। ऐसा माना जा रहा है कि बड़ी संख्‍या में स्‍टेडियम पहुंचने वाले समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता मैच के दौरान जय अखिलेश के नारे लगा सकते हैं। 50 हजार की क्षमता वाले स्‍टेडियम में अखिलेशियंस का कब्‍जा होगा। यूथ विंग के कार्यकर्ता हर चौके, छक्‍के और विकेट गिरने पर जय जय जय जय जय अखिलेश का नारा लगा सकते हैं। अगर ऐसा होता है, तो वहां मौजूद इंटरनेशनल मीडिया इसको कवरेज देगी, जिससे समाजवादी पार्टी एक बार फिर पूरे विश्‍व में छा जाएगी।

ये भी देखें: सपा चाहती है कि योगी सरकार अखिलेश का जताए आभार, जानिए क्यों?

जिलाध्‍यक्षों की बुलाई गई थी बैठक

समाजवादी पार्टी के अंदरखाने से जो खबर निकलकर आई है, उसके मुताबिक कुछ दिन पहले पार्टी ने जिलाध्‍यक्षों की बैठक बुलाकर बड़ी संख्या में मैच के टिकट खरीदने का फरमान जारी किया था। जिस पर अमल करते हुए दस हजार से अधिक समाजवादी कार्यकर्ताओं ने मैच के टिकट खरीदें हैं। अब ये कार्यकर्ता स्‍टेडियम के अंदर क्‍या गुल खिलाते हैं, ये तस्‍वीर तो कल ही साफ हो पाएगी। लेकिन अगर जय अखिलेश के नारे मैच के दौरान लगते हैं तो इसे अखिलेश यादव का मास्‍टर स्‍ट्रोक कहना ही उचित होगा।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story