ये खिलाड़ी बन सकता है भारतीय टीम का गेंदबाजी कोच, 19 अगस्त को होगा फैसला

टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच का चयन 19 अगस्त को होगा। जिसमें 7 नामों पर चर्चा होगी।
यह बैठक मुंबई में होगी, जिसमें भारतीय टीम के नए गेंदबाजी कोच का चयन किया जाएगा।
इस वक़्त भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण हैं।

ये खिलाड़ी बन सकता है भारतीय टीम का गेंदबाजी कोच, 19 अगस्त को होगा फैसला

ये खिलाड़ी बन सकता है भारतीय टीम का गेंदबाजी कोच, 19 अगस्त को होगा फैसला

स्पोर्ट्स डेस्क: रवि शास्त्री(Ravi Shastri) को भारतीय टीम(Indian Team) का कोच चुन लिया गया है, और अब बारी है टीम के बाकी कोच को चुनने का। शुक्रवार को प्रशासकों की समिति के अध्यक्ष कपिल देव(kapil Dev) ने जब भारतीय टीम के कोच पद का एलान किया, तभी से ऐसी बातों की चर्चाएँ शुरू हो गयी कि अब भारतीय टीम के बाकी कोच कब चुने जायेंगे।

पढ़ें…

भारतीय टीम आज वेस्ट इंडीज टूर के लिए रवाना होगी

टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच का चयन 19 अगस्त को होगा। जिसमें 7 नामों पर चर्चा होगी।

यह बैठक मुंबई में होगी, जिसमें भारतीय टीम के नए गेंदबाजी कोच का चयन किया जाएगा। इस वक़्त भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण हैं। जिनके नाम पर भी चर्चा होगी।

पढ़ें… 

रवि शास्त्री(Ravi Shastri) कैसे बने टीम इंडिया(Team India) के कोच(Coach)?

साल 2021 तक रवि शास्त्री बने रहेंगे भारतीय क्रिकेट टीम के कोच

इन सात नामों पर होगी चर्चा

गेंदबाजी कोच के लिए जिन दावेदारों को शॉर्टलिस्ट किया गया है उनमें इंग्लैंड के पूर्व तेज गेंदबाज डेरेन गौफ, लंदन आधारित तेज गेंदबाजी कोच स्टीफन जोंस, भारत के सुब्रतो बैनर्जी, अमित भंडारी, पारस म्हांब्रे, वेंकटेश प्रसाद और सुनील जोशी हैं।

टीम इंडिया के मौजूदा गेंदबाजी कोच भरत अरुण पहले ही दावेदारों की लिस्ट में शुमार हैं।

इन दावेदारों का इंटरव्यू मुंबई में होगा और सबको अपना प्रजेंटेशन देने की समय सीमा 20 मिनट या इससे ज्यादा की होगी।

बाहरी दावेदारों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अपनी बात कहने का मौका दिया जाएगा।

पढ़ें… 

विश्व कप 2019: रवि शास्त्री का विवादित बयान, इसलिए हारी इंडिया

लगातार दूसरी बार टीम इंडिया के हेड कोच चुने गए रवि शास्त्री, 2021 तक रहेंगे पद पर

कोच रवि शास्त्री ने कुलदीप यादव को लेकर दिया बड़ा बयान, हो सकता है बवाल

ये है इनका अनुभव

गेंदबाजी कोच के दावेदार वेंकटेश (Venkatesh Prasad) प्रसाद पहले भी भारतीय टीम के गेंदबाजी कोच रह चुके हैं तो वहीं डेरेन गौफ इंग्लैंड के बेहतरीन गेंदबाज रह चुके हैं।

जोंस आइपीएल टीम राजस्थान रॉयल्स के साथ काम कर चुके हैं। पारस म्हांब्रे भारतीय घरेलू क्रिकेट का चर्चित चेहरा हैं और वह भारतीय अंडर-19 व भारत ए के साथ काम कर चुके हैं।

वहीं सुनील जोशी ने बांग्लादेश क्रिकेट टीम के साथ काम किया और अपार अनुभव हासिल किया।

भरत अरुण ही बन सकते हैं गेंदबाजी कोच

भरत अरुण टीम के मौजूदा गेंदबाजी कोच हैं और उनके रहते टीम इंडिया की गेंदबाजी आक्रमण विश्व की सबसे घातक गेंदबाजी आक्रमण में से एक है।

खबरों की माने तो ये बात सामने आ रही है कि भरत अरुण (Bharat Arun) के प्रदर्शन से बोर्ड काफी संतुष्ट है और उन्हें एक बार फिर से ये जिम्मेदारी दी जा सकती है।

हालांकि इसके बारे में अंतिम फैसला तो 19 तारीख को ही होगा।