Top

अंपायर के फैसले का विरोध करने, गुस्से से मैदान में घुस आए कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी

गुस्से से लाल चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान मैदान में जा घुसे और अंपायर से बातचीत करने लगे। हालांकि, अंपायर ने अपना फैसला नही बदला और इसका मैच के रिजल्ट पर कोई फर्क़ भी नही पड़ा, क्योंकि आखिर में जीत चेन्नई की ही हुई।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 12 April 2019 4:39 AM GMT

अंपायर के फैसले का विरोध करने, गुस्से से मैदान में घुस आए कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: पूरी दुनिया में किसी भी परिस्थिति को सबसे अच्छी तरह से हैंडल करने वाले पूर्व भारतीय कप्तान और भारतीय टीम को वर्ल्ड कप दिलाने वाले टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने उस वक़्त अपना आपा खो दिया जब मैदानी अंपायर ने मैच के दौरान गलत फैसला दिया।

ये भी देखें:आईएमएफ, विश्व बैंक ने चीन के कर्ज को लेकर सावधानी बरतने का आग्रह किया

फिर क्या था गुस्से से लाल चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान मैदान में जा घुसे और अंपायर से बातचीत करने लगे। हालांकि, अंपायर ने अपना फैसला नही बदला और इसका मैच के रिजल्ट पर कोई फर्क़ भी नही पड़ा, क्योंकि आखिर में जीत चेन्नई की ही हुई।

आखिरी ओवर का खेल

दरअसल ये मामला तब का है, जब पारी का आखिरी ओवर चल रहा था और इस ओवर में चेन्नई को जीत के लिए 18 रनों की दरकरार थी और गेंदबाजी के लिए स्टोक्स आये, 18 रनों के पीछे पहली गेंद पर ही जडेजा ने छक्का लगा दिया, इससे अगली गेंद नो बॉल हुई और जडेजा ने एक रन ले लिया, अब स्ट्राइक पर धोनी थे और उन्होंने फ्री हिट वाली बॉल पर दो रन लिए। इसके बाद तीसरी बॉल पर स्टोक्स ने धोनी को बोल्ड कर दिया, अब चेन्नई को जीत के लिए तीन गेंद में आठ रन चाहिये थे। इसकी अगली गेंद स्टोक्स ने सैंटनर को फुलटॉस कर दी, जिस पर अंपायर ने पहले तो हाथ निकाला जिससे ये लगा कि वो नो बॉल दे रहे हैं, लेकिन दूसरे अंपायर ने इसे गलत बताया और उन्होंने अपने फैसले को बदला, अब इस पर धोनी मैदान में घुस आए और अपनी नाराजगी जाहिर की। लेकिन फिर क्या था आखिरी बॉल पर सैंटनर ने छक्का जड़कर सारे विवादों को दरकिनार कर चेन्नई को सुपरकिंग्स बना दिया।

मुरली कार्तिक ने नहीं किया प्रश्न

मैच के बाद होने वाली सेरेमनी में जब मुरली कार्तिक ने धोनी से बातचीत कर रहे थे तो उन्होंने इस प्रश्न को पूछना जरूरी नही समझा, जबकि धोनी ने मजाकिया अंदाज में उनसे पूछने को भी कहा।

इस मैच में अंदर घुसने पर उन्हें लेवल 2 के 2.20 का दोषी माना गया है जिसमें मैच फीस की 50 फीसदी जुर्माना लगाया गया है।

ये भी देखें:डोनाल्ड ट्रम्प की बहन हुईं सेवानिवृत्त,नागरिक कदाचार का मामले की जांच खत्म

100 मैच जीतने वाले पहले कप्तान

इस मैच को जीतने के साथ ही महेंद्र सिंह धोनी ने आईपीएल में सबसे ज्यादा जीत का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया।

वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले पहले कप्तान बने हैं, उनसे पीछे सिर्फ गौतम गंभीर और रोहित शर्मा हैं।जिन्होंने क्रमशः 71 और 55 मैच कप्तान के तौर पर जीते हैं।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story