×

Tokyo Olympic 2020: भारतीय हॉकी टीम ने रचा इतिहास, 49 साल बाद सेमीफाइनल में बनाई जगह

Tokyo Olympic 2020: भारत ने टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में हॉकी के क्वार्टरफाइनल मुकाबले में ब्रिटेन को हरा दिया है।

Network

NetworkNewstrack NetworkDharmendra SinghPublished By Dharmendra Singh

Published on 1 Aug 2021 1:57 PM GMT

Tokyo Olympic 2020
X

एक मैच के दौरान भारतीय हाॅकी टीम (फोटो: सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Tokyo Olympic 2020: भारत ने टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में हॉकी के क्वार्टरफाइनल मुकाबले में ब्रिटेन को हरा दिया है। इस जीत के साथ ही भारतीय पुरुष हॉकी टीम सेमीफाइनल में पहुंच गई है। ओलंपिक खेलों के सेमीफाइनल में भारतीय पुरुष हॉकी टीम 41 साल बाद पहुंची है।

भारत की इस जीत के साथ मेडल जीतने की उम्मीद बढ़ गई है। टोक्यो ओलंपिक में अभी भारत की झोली में दो मेडल आए हैं। वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने सिल्वर मेडल जीता है जबकि बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने कास्य पदक अपने नाम किया है। महिला बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन भी सेमीफाइनल में पहुंच चुकी हैं और उनका भी मेडल जीतना पक्का हो गया है।

मनप्रीत सिंह की कप्तानी वाली भारती हॉकी टीम की जीत के बाद देश में खुशी लहर है। इस मैच में भारत की तरफ से गुरजंत सिंह, हार्दिक सिंह और दिलप्रीत सिंह ने 1-1 गोल किया। ओलंपिक में भारत और ब्रिटेन के बीच 9वीं बार मैच खेला गया।



ऑस्ट्रेलिया से मिली हार को छोड़ दें तो भारतीय टीम का टोक्यो में शानदार प्रदर्शन रहा है। भारत ने पांच में से चार मैचों में जीत हासिल की। भारत ने ऑस्ट्रेलिया से हारने के बाद लगातार तीन मैच जीते हैं। रविवार का दिन भारतीयों के लिए खुशी वाला रहा। एक तरफ जहां पीवी सिंधु ने कास्य पदक जीता, तो वहीं भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने सेमीफाइनल में जगह बना ली है।

भारत ने आखिरी मेडल 1980 मॉस्को में हुए ओलंपिक जीता था। उस समय भारतीय हाॅकी टीम के कप्तान वासुदेवन भास्करन थे। उसके बाद से भारतीय हॉकी टीम का प्रदर्शन गिरता गया। लेकिन बीते पांच साल में भारतीय हॉकी टीम के प्रदर्शन में बेहतरीन सुधार हुआ है जिसकी वजह से विश्व रैंकिंग में तीसरे स्थान पर है। ऑस्ट्रेलिया के ग्राहम रीड ने दो साल कोच का पद का संभाला था जिसके बाद भारतीय टीम के खिलाड़ियों में जबरदस्त सुधार हुआ है।












Dharmendra Singh

Dharmendra Singh

Next Story