Top

तेंदुलकर का रिकार्ड तोड़ बोले कोहली : मेरे लिए आकंड़े मायने नहीं रखते

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 7 July 2017 11:52 AM GMT

तेंदुलकर का रिकार्ड तोड़ बोले कोहली : मेरे लिए आकंड़े मायने नहीं रखते
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

किंग्स्टन : अपनी शतकीय पारी से टीम को विंडीज के खिलाफ आखिरी मैच जीता कर सीरीज दिलाने वाले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि उनका लक्ष्य हमेशा से टीम को विजय दिलाना होता।

कोहली ने इस मैच में लक्ष्य का पीछा करते हुए 111 रनों की पारी खेली। इसी के साथ वह लक्ष्य का पीछा करते हुए सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने इस मामले में दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ा।

सचिन के नाम लक्ष्य का पीछा करते हुए 17 शतक दर्ज हैं जिसके लिए उन्होंने 232 पारियां ली थीं जबकि कोहली ने महज 102 पारियों में उनके रिकार्ड को ध्वस्त कर दिया।

मैच के बाद कोहली ने कहा, "मेरे लिए हमेशा टीम को जीत दिलाना मुख्य लक्ष्य होता है। मेरे लिए आकंड़े मायने नहीं रखते। मैं सिर्फ स्कोरबोर्ड को देखता हूं और गेंदबाजों को, किसे निशाना बनाना है और किसे अच्छे से खेलना है। मैं नियंत्रण लेने की कोशिश में होता हूं।"

सीरीज जीतने पर कोहली ने कहा, "पहला लक्ष्य सीरीज पर कब्जा जमाना था। पूरी टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया। खासकर अजिक्य रहाणे का जिन्होंने शानदार वापसी की। शिखर धवन ने भी शीर्ष क्रम में अच्छा खेला। कुलदीप यादव ने भी पहली सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया। टीम के संयुक्त प्रदर्शन से खुश हूं। लक्ष्य का पीछा करते हुए आसानी से जीत हासिल करना हमेशा से अच्छा अहसास होता है।"

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story