Top

विशाखापत्तनम ODI : लय न टूटे टीम इंडिया, करनी है सीरीज फतेह

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 16 Dec 2017 11:13 AM GMT

विशाखापत्तनम ODI : लय न टूटे टीम इंडिया, करनी है सीरीज फतेह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

विशाखापत्तनम। भारत और श्रीलंका के बीच विशाखापत्तनम के वाई एस राजशेखर रेड्डी एसीए-वीडीसीए क्रिकेट स्टेडियम में रविवार को तीसरा और निर्णायक वनडे खेला जाएगा। यह अंतिम मुकाबला दोनों टीमों के लिए काफी अहम है क्योंकि तीन वनडे मैचों की सीरीज में दोनों ही टीमें एक-एक मुकाबला अपने नाम कर चुकी हैं।

ऐसे में इस तीसरे वनडे में भारत और श्रीलंका के बीच कांटे की टक्कर होने वाली है। बताते चलें, इस मैच में दोनों टीमें करो या मरो की स्थिति में हैं। दरअसल, भारतीय टीम अक्टूबर 2015 के बाद विशाखापत्तनम में अब मैच खेलने जा रही है। ऐसे में अगर भारत तीसरा मैच हार जाता है तो ये पहली बार होगा कि विशाखापत्तनम में कोई सीरीज टीम ने हारी हो।

इसके अलावा अगर ये मैच श्रीलंका जीतती है तो वो 0-9 की हार का बदला चुकता कर पायेगी। बताते चलें, धर्मशाला में खेले गए पहले मैच में श्रीलंका ने भारत को मात दी थी, लेकिन मोहाली में खेले गए दूसरे वनडे मैच में भारतीय टीम के कार्यवाहक कप्तान और ‘हिटमैन’ रोहित शर्मा के तीसरे दोहरे शतक के दम पर भारत ने मेहमानों को पटखनी देते हुए सीरीज 1-1 से बराबर कर ली थी।

अब विशाखापत्तनम के में होने वाला यह सीरीज का तीसरा और निर्णायक मैच दोनों टीमों के लिए बेहद अहम है। बताते चलें, इस मैदान पर भारत का रिकॉर्ड भी अच्छा रहा है। भारत ने यहां सात मैच खेले हैं तो एक में जीत हासिल की है। श्रीलंका को उसे हराने के लिए अपनी शीर्ष फॉर्म का प्रदर्शन करना होगा।

वनडे रैंकिंग में पहले स्थान पर काबिज भारत रोहित की अगुवाई में उतरेगी। उसकी बल्लेबाजी का दारोमदार भी रोहित के कंधों पर होगा। पहले मैच में नाजुक स्थिति में अर्धशतक जड़ने वाले महेंद्र सिंह धौनी पर भी बड़ी जिम्मेदारी होगी। इस मैदान का धौनी के साथ खासा नाता है। धौनी ने अपने वनडे करियर का पहला शतक इसी मैदान पर साल 2005 में पाकिस्तान के खिलाफ लगाया था। धौनी ने उस मैच में 148 रनों की पारी खेली थी।

पिछले मैच में शिखर धवन ने भी बल्ले से बेहतरीन योगदान दिया था। वहीं अपने करियर का दूसरा मैज खेलने वाले युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर ने भी 88 रनों की पारी खेल अपनी प्रतिभा का परिचय दिया था। दिनेश कार्तिक, मनीष पांडे को पहले मैच में ही बल्लेबाजी का मौका मिला था। यह दोनों भी अपने बल्ले की जंग को दूर करना चाहेंगे।

गेंदबाजी में भारत भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह के ऊपर निर्भर रहेगी। वहीं स्पिन में युजवेंद्र चहल के ऊपर जिम्मेदारी होगी। रोहित, कुलदीप यादव और वॉशिंगटन सुंदर में से किसे टीम में जगह देते हैं यह देखना होगा। वहीं श्रीलंका के कप्तान थिसारा परेरा अपनी रणनीति पर दोबारा विचार करेंगे। उनके पास सीरीज जीतने का मौका भी है जिसे वह किसी भी कीमत पर गंवाना नहीं चाहेंगे।

टीम को जीत की राह पर ले जाने के अलावा परेरा पर गेंदबाजी आक्रमण की बागडोर भी होगी। इसमें एंजेलो मैथ्यूज, सुरंगा लकमल और अकिला धनंजय उनका साथ देंगें। लेकिन पेररा के लिए दिक्कत की बात यह है कि पहले मैच में गेंदबाजी के मुफीद विकेट मिलने पर तो उनके गेंदबाजों ने कहर ढा दिया था लेकिन दूसरे मैच में वह एकदम राह से भटक गए थे। बल्लेबाजी में मैथ्यूज और निरोशन डिकवेला पर श्रीलंकाई पारी की जिम्मेदारी होगी।

टीमें :

भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), दिनेश कार्तिक, महेंद्र सिंह धौनी (विकेटकीपर) , शिखर धवन, भुवनेश्वर कुमार, मनीष पांडे, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, श्रेयस अय्यर, हार्दिक पांड्या, वॉशिंगटन सुंदर, अजिंक्य रहाणे, सिद्धार्थ कौल, कुलदीप यादव, अक्षर पटेल।

श्रीलंका : थिसारा परेरा (कप्तान), उपुल थंरगा, एंजेलो मैथ्यूज, सुंरगा लकमल, लाहिरू थिरिमाने, नुवान प्रदीप, निरोशन डिकवेला (विकेटकीपर), दानुष्का गुणाथिलका, सचिथा पाथिराना, अकिला धनंजय, असेला गुणारत्ने, धनंज डी सिल्वा, कुशल परेरा, दुशमंथा चामिरा, चाटुरंगा डी सिल्वा, सादिरा सामाराविक्रमा।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story