Top

सेमीफाइनल में विराट करना चाहते थे ऐसा, लेकिन इन्होंने कर दिया मना

भारतीय क्रिकेट टीम विश्वकप में न्यूजीलैंड से हारकर बाहर हो गई और इस हार के साथ ही टीम की उस समस्या पर भी चर्चा होने लगी, जो लंबे समय से चल रही थी। टीम में नंबर चार पर मजबूत बल्‍लेबाज का न होना, जिसे टीम की हार का बड़ा कारण माना जा रहा है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 13 July 2019 4:24 AM GMT

सेमीफाइनल में विराट करना चाहते थे ऐसा, लेकिन इन्होंने कर दिया मना
X
cricket indian team
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम विश्वकप में न्यूजीलैंड से हारकर बाहर हो गई और इस हार के साथ ही टीम की उस समस्या पर भी चर्चा होने लगी, जो लंबे समय से चल रही थी। टीम में नंबर चार पर मजबूत बल्‍लेबाज का न होना, जिसे टीम की हार का बड़ा कारण माना जा रहा है। नंबर चार के मजबूत न होने से बिखरती टीम संभल नहीं पाई और इसका खामियाजा टीम को टूर्नामेंट से बाहर होकर चुकाना पड़ा था।

यह भी देखें... सेरेना की निगाहें रेकॉर्ड बराबरी पर, फाइनल में हालेप से होगी भिड़ंत

जानते थे टीम की कमजोरी

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली अपनी टीम की इस कमजोरी को अच्छी तरह जानते थे, इसीलिए न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में वह नंबर चार पर बल्लेबाजी करने के लिए आना चाहते थे, लेकिन टीम मैनेजमेंट उनकी बात से सहमत नहीं हो पाया और उन्हें अपने ही स्‍थान पर आना पड़ा।

भारतीय टीम की बल्लेबाजी

आपकों याद ही होगा दोनों टीमों के बीच नौ जुलाई को खेला गया सेमीफाइनल बारिश के कारण रिजर्व डे में चला गया था। अगले दिन भारत की बल्लेबाजी की बारी आई और उसके सामने 240 रनों का लक्ष्य रखा। बारिश के कारण पिच में नमी बनी हुई थी, जिस कारण गेंद हरकत करने लगी और भारत ने अपने तीन अहम विकेट सिर्फ पांच रन पर ही गंवा दिए।

गंवा दिए विकेट

रोहित शर्मा, केएल राहुल और विराट कोहली के बाद ऋषभ पंत और फिर हार्दिक पंड्या मैदान पर आए, लेकिन वो कुछ गेंदों का ही सामना कर पाए। हालांकि खेल शुरू होने के बाद कुछ ओवर बाद विकेट बल्लेबाजी करने लायक हो गई, लेकिन जब विकेट बल्लेबाजों के हिसाब से हुई तब तक टीम ने अपने अहम विकेट गंवा दिए ‌थे।

यह भी देखें... सोमालिया के होटल पर हमला, सात के मरने की आशंका

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, रोहित शर्मा और केएल राहुल जब रिजर्व डे पर भारतीय पारी का आगाज करने पहुंचे तो भारतीय कप्तान विराट कोहली नंबर तीन पर बल्लेबाजी करने के लिए ड्रेसिंग रूम के अंदर पैड पहनकर तैयार बैठे थे। तभी वह जल्दी से कोच रवि शास्‍त्री, सहायक कोच संजय बांगड और एमएस धोनी के पास चर्चा करने के लिए गए कि य‌दि वे नंबर पर चार पर बल्लेबाजी करने जाएं तो ये फैसला कैसा रहेगा।

विराट चाहते थे कि पंत या पंड्या में से कोई एक पहले जाकर कुछ ओवर बल्लेबाजी करें, जिससे विकेट की नमी और ताजापन कम किया जा सके। लेकिन रोहित का विकेट गिरने के बाद कोहली अपने पुराने स्‍थान पर ही आए। हालांकि बल्लेबाजी का स्‍थान धोनी का बदला गया और वह सातवें नंबर पर आए और उन्होंने टीम को जीत की उम्मीद भी दिखाई, लेकिन इस बार वह अपने जाने पहचाने अंदाज में मैच को फिनिश नहीं कर पाए और दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रन आउट हो गए।

वर्ल्ड कप 2011 में कप्तान धोनी

गौरतलब है कि मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में हुए 2011 के वर्ल्ड कप फाइनल में कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने भी अपना बल्लेबाजी क्रम बदलते हुए पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी की थी। तीसरे विकेट के रूप में विराट कोहली के आउट होने के बाद धोनी पैड बांधे बैठे युवराज से पहले बल्लेबाजी के लिए उतरे थे और उन्होंने 79 गेंदों पर नाबाद 91 रन बनाकर टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी।

यह भी देखें... लोकसभा चुनाव में हार के बाद हर विभाग के खर्चों में कटौती कर रही है कांग्रेस: सूत्र

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story