Top

वेस्टइंडीज के ब्रेथवेट ने अंपायरिंग पर उठाये सवाल, होल्डिंग ने भी आलोचना की

आस्ट्रेलिया से विश्व कप मैच में 15 रन से हार के बाद वेस्टइंडीज के आलराउंडर कार्लोस ब्रेथवेट ने कहा कि बेहद खराब अंपायरिंग का उनकी टीम को बहुत अधिक खामियाजा भुगतना पड़ रहा है जबकि पूर्व तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग ने भी अंपायरों के प्रदर्शन की कड़ी आलोचना की।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 7 Jun 2019 9:04 AM GMT

वेस्टइंडीज के ब्रेथवेट ने अंपायरिंग पर उठाये सवाल, होल्डिंग ने भी आलोचना की
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नाटिंघम: आस्ट्रेलिया से विश्व कप मैच में 15 रन से हार के बाद वेस्टइंडीज के आलराउंडर कार्लोस ब्रेथवेट ने कहा कि बेहद खराब अंपायरिंग का उनकी टीम को बहुत अधिक खामियाजा भुगतना पड़ रहा है जबकि पूर्व तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग ने भी अंपायरों के प्रदर्शन की कड़ी आलोचना की।

ये भी देंखे:यूपी में कड़ाई के साथ लागू होगी आयुष्मान भारत योजना

वेस्टइंडीज के सलामी बल्लेबाज क्रिस गेल और कप्तान जैसन होल्डर दोनों को ट्रेंटब्रिज में गुरुवार को मैदानी अंपायरों ने दो बार आउट दे दिया था लेकिन हर बार तीसरे अंपायर ने फैसला बदल दिया था। अंपायर क्रिस गाफनी एक अवसर पर मिशेल स्टार्क की नोबाल देने से चूक गये थे। अगर यह नोबाल हो जाती तो अगली गेंद पर फ्री हिट होती जिस पर क्रिस गेल आउट हो गये थे।

ब्रेथवेट ने पत्रकारों से कहा, ‘‘मैं नहीं जानता कि इसके लिये मुझ पर जुर्माना लगाया जाएगा लेकिन मुझे लगता है कि अंपायरिंग थोड़ी निराशाजनक है। यहां तक कि जब हम गेंदबाजी कर रहे थे तब सिर की ऊंचाई तक जाने वाली हमारी कुछ गेंदों को वाइड दिया गया।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम 280 रन के लक्ष्य का पीछा कर रहे थे और ऐसे में खुद 180 रन बनाने की क्षमता रखने वाले क्रिस को गंवाना हम उस तरह की शुरुआत नहीं कर पाये जैसी चाहते थे।’’

ये भी देंखे:जानिए धोनी के ग्लव्स पर बने चिन्ह को लेकर क्यों मचा है बवाल

इस बीच होल्डिंग ने कमेंट्री करते हुए अंपायरिंग को खराब करार दिया। उन्होंने कहा, ‘‘इस मैच में अंपायरिंग बेहद खराब रही। ’’

होल्डिंग ने कहा कि गाफनी और श्रीलंका के रूचिरा पालियागुरूगे आस्ट्रेलिया की लंबी अपीलों के कारण दबाव में आ गये।

उन्होंने कहा, ‘‘यहां तक कि जब मैं खेला करता था और नियम इतने कड़े नहीं थे तब भी हमें एक अपील की अनुमति थी। आप अंपायर से एक, दो, तीन या चार बार अपील नहीं कर सकते। उन्हें डराया जा रहा है जिसका मतलब है कि वे कमजोर हैं।’’

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story