×

'जहां रोमांच अपनी सारी हदें पार कर दे उसे आईपीएल कहते हैं'

'जहां रोमांच अपनी सारी हदें पार कर दे उसे आईपीएल कहते हैं' और जब-जब कोई भी क्रिकेट मैच आखिरी गेंद तक जाता है तब-तब जीत क्रिकेट की होती है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 22 April 2019 7:04 AM GMT

जहां रोमांच अपनी सारी हदें पार कर दे उसे आईपीएल कहते हैं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

बेंगलुरु: 'जहां रोमांच अपनी सारी हदें पार कर दे उसे आईपीएल कहते हैं' और जब-जब कोई भी क्रिकेट मैच आखिरी गेंद तक जाता है तब-तब जीत क्रिकेट की होती है। ऐसा ही कुछ नजारा देखने को मिला बेंगलुरू के चिन्नास्वामी स्टेडियम में, जहां बेहद रोमांचक मुकाबले में विराट के वीर एक रन से मैच जीतने में कामयाब हुए।

इस मैच में वह सबकुछ देखने को मिला जो एक अच्छे क्रिकेट मैच में होना चाहिए। हमें अच्छी बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग के साथ डर और रोमांच भी महसूस करने को मिला। धोनी का आखिरी ओवर में बेहतरीन बल्लेबाजी करना हो या जीत के बाद विराट का जश्न,सभी बातें एक यादगार पल होंगी।

यह भी देखे:टिकटाक एप पर प्रतिबंध के मामले की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज

आखिरी ओवर का रोमांच:

धोनी ने इसके बाद अपने दम पर टीम को लक्ष्य के करीब पहुंचाया. चेन्नई को आखिरी ओवर में 26 रन की जरूरत थी. धोनी ने उमेश यादव की पहली पांच गेंदों पर पहले चौका, फिर दो छक्के, दो रन और फिर एक छक्का लगाया लेकिन उनके आखिरी गेंद पर पार्थिव पटेल के बेहतरीन थ्रो से रन आउट होकर चेन्नई यह मुकाबला जीतने से चूक गयी जिससे बेंगलुरु की आईपीएल में उम्मीदें बनी हैं।

मैच के बाद विराट कोहली ने कहा, "इस मैच में काफी इमोशन्‍स देखने को मिले। हम 19वें ओवर तक गेंदबाजी में अच्‍छा प्रदर्शन कर रहे थे। इस पिच पर 162 रन के लक्ष्‍य को हम डिफेंड कर रहे थे। ऐसी पिच पर जहां काफी ड्यू गिर चुका था, हमने अच्‍छा प्रदर्शन किया। मैच की आखिरी गेंद मेरे लिए वो आखिरी चीज थी जो मैं मैच में होने की उम्‍मीद की होगी। मैच जीत कर मुझे काफी अच्‍छा महसूस हो रहा है।"

विराट ने कहा, "इतने कम अंतर से मैच जीतकर मुझे काफी अच्‍छा महसूस हो रहा है। हमने कई ऐसे मैच बेहद कम अंतर से गंवाए हैं। महेंद्र सिंह धोनी ने वो काम करके दिखाया जिसे करने में वो सबसे अच्‍छे हैं। उनकी बल्‍लेबाजी ने सभी को डरा दिया था।

यह भी देखे:राजनाथ भी राजस्थान के दौरे पर, कई सभाएं करेंगे

पहले छह ओवरों में मुझे लग रहा था कि गेंद बल्‍ले पर ठीक से नहीं आ रही है। पार्थिव पटेल और एबी डिविलियर्स ने पारी को आगे बढ़ाना शुरू किया। हमें लग रहा था कि इस पिच पर अधिकतम 175 रनों का लक्ष्‍य ठीक रहेगा। हमने 15 रन कम बनाए हैं।"

बैंगलुरू के कप्‍तान बोले, " हमें लग रहा था कि उनके गेंदबाजों ने हमें फ्रंटफुट पर आकर बल्‍लेबाजी नहीं करने दी। हमें पावरप्‍ले में सही जगह गेंदबाजी करी, जिसके कारण हमें शुरुआती विकेट मिले।"

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story