Top

2011 विश्व कप में भारत के नायक रहे युवराज सिंह ने लिया संन्यास

भारत के 2007 टी-20 विश्व कप और 2011 क्रिकेट विश्व कप में नायक रहे युवराज सिंह ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। युवराज सिंह भारत की दो वर्ल्ड चैंपियन (2007 में वर्ल्ड टी20 और 2011 में वर्ल्ड कप) टीमों का हिस्सा रहे और दोनों ही टूर्नामेंट्स में उन्होंने अपने प्रदर्शन से खास छाप छोड़ी थी।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 10 Jun 2019 4:37 AM GMT

2011 विश्व कप में भारत के नायक रहे युवराज सिंह ने लिया संन्यास
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: भारतीय टीम के चैंपियन ऑलराउंडर युवराज सिंह ने सोमवार को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा कर दी। युवराज सिंह भारत की दो वर्ल्ड चैंपियन (2007 में वर्ल्ड टी20 और 2011 में वर्ल्ड कप) टीमों का हिस्सा रहे और दोनों ही टूर्नामेंट्स में उन्होंने अपने प्रदर्शन से खास छाप छोड़ी थी। 2011 विश्व कप में वह भारत की जीत के नायक रहे हैं। युवराज का 19 साल का करियर आज खत्म हो गया है, ये कहते हुए युवराज मीडिया के सामने भावुक हो गए।

युवराज सिंह ने कहा कि 25 साल तक 22 गज के यार्ड के अंदर व बाहर और लगभग 17 साल के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के बाद, मैंने आगे बढ़ने का फैसला किया है। इस खेल ने मुझे सिखाया कि कैसे लड़ना है, कैसे गिरना है, धूल फांकना है, फिर से उठना है और आगे बढ़ना है।

युवराज ने आगे कहा कि मैंने क्रिकेट में काफी उतार-चढ़ाव देखे हैं। 2011 का वर्ल्ड कप जीतना मेरे लिए सपना रहा है। मैंने जिंदगी में कभी हार नहीं मानी है। मैंने अपने पिता का सपना पूरा किया।

युवराज सिंह पिछले काफी लंबे समय से भारतीय टीम की ओर से नहीं खेले हैं। 2017 के बाद से ही युवराज का चयन भारतीय टीम में नहीं हो पा रहा था। युवराज सिंह ने भारतीय टीम की ओर से 40 टेस्ट खेले हैं जिसमें उन्होंने 33.92 की औसत से 1900 रन बनाए हैं जिसमें 3 शतक और 11 अर्धशतक शामिल हैं।

यह भी पढ़ें...इटावा: राजधानी एक्‍सप्रेस की चपेट में आकर 4 लोगों की मौत, ऐसे हुआ ये हादसा

बीसीसीआई के एक सीनियर अधिकारी ने हाल में बताया था कि युवराज अंतरराष्ट्रीय और प्रथम श्रेणी क्रिकेट से संन्यास के बारे में सोच रहे हैं। इसकी जानकारी रखने वाले बीसीसीआई के एक सूत्र ने कहा, ‘वह बीसीसीआई से बात करना चाहेंगे और जीटी20 (कनाडा) और आयरलैंड व हॉलैंड में यूरो टी20 स्लैम में खेलने के बारे में चीजें स्पष्ट बरना चाहेंगे, क्योंकि उन्हें इसमें खेलने की पेशकश मिल रही हैं।’

इरफान पठान ने हाल में कैरेबियाई प्रीमियर लीग के ड्राफ्ट में अपना नाम दिया था, लेकिन वह अब भी सक्रिय प्रथम श्रेणी खिलाड़ी हैं और उन्होंने बीसीसीआई से स्वीकृति नहीं ली। बीसीसीआई के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने बताया था, ‘इरफान को ड्राफ्ट से नाम वापस लेने को कहा गया। जहां तक युवराज का सवाल है तो हमें नियम देखने होंगे। अगर वह प्रथम श्रेणी क्रिकेट से संन्यास ले भी लेते हैं तो भी बीसीसीआई के अंतर्गत पंजीकृत सक्रिय टी20 खिलाड़ी हो सकते हैं।’

यह भी पढ़ें...अलीगढ़ रेपकेस: मुस्लिमों पर बरपा गांव के लोगों का गुस्सा, हिन्दू साथी ने बचाई जान

युवराज इस साल आईपीएल में मुंबई इंडियंस की ओर से खेले, लेकिन उन्हें अधिक मौके नहीं मिले और संभवत: यही कारण है कि वह अपनी भविष्य की योजनाओं पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं। इस बीच कुछ लोगों का मानना है कि अगर जहीर खान और वीरेंदर सहवाग दुबई में टी10 लीग का हिस्सा हो सकते हैं तो फिर युवराज को स्वीकृति क्यों नहीं मिल सकती।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story