Top

तमिलनाडु चुनावः मोदी ने महिला अपमान की बात कर पुराने जख्म ताजा किये

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनावी रैली में द्रमुक कांग्रेस गठबंधन पर महिलाओं का अपमान करने का आरोप लगाया है

Ashiki

AshikiBy Ashiki

Published on 31 March 2021 4:30 AM GMT

pm narendra modi tamil nadu election
X
पीएम मोदी (फाइल फोटो )
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रामकृष्ण वाजपेयी

तमिलनाडु के धारापुरम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने द्रमुक और कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा है कि भाजपा के पास विकास का एजेंडा है जबकि कांग्रेस और द्रमुक के पास परिवारवाद के सिवाय कुछ नहीं है। राज्य में भाजपा अन्नाद्रमुक के साथ है। राज्य में मुकाबला द्रमुक और अन्नाद्रमुक के बीच है जबकि भाजपा और कांग्रेस अपने अपने सहयोगियों के साथ 25-25 सीटों पर चुनाव लड़ रही हैं।

दोनों पार्टियों का प्रमुख नेताओं की अनुपस्थिति में पहला चुनाव

पिछले एक दशक से सत्ता से बाहर द्रमुक स्टालिन के नेतृत्व में जहां इस बार अपनी सत्ता में वापसी के लिए जोर लगाए हुए है वहीं अन्नाद्रमुक के मुख्यमंत्री पलानीस्वामी और उपमुख्यमंत्री पनीरसेल्वम अपनी पार्टी को सत्ता में बरकरार रखने के लिए जोर लगाए हुए हैं। द्रमुक और अन्नाद्रमुक दोनों ही पार्टियां अपने दो प्रमुख नेताओं की अनुपस्थिति में यह पहला चुनाव लड़ रही हैं। इसमें जयललिता का 2016 और करुणानिधि का 2018 में निधन हो गया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लगाया आरोप

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने द्रमुक कांग्रेस गठबंधन पर महिलाओं का अपमान करने का भी आरोप लगाया है। गौरतलब है कि यह घटना 25 मार्च 1989 की है जब सदन के भीतर द्रमुक के विधायकों ने जयललिता का अपमान किया था वह सदन में गिर गई थीं। उनकी साड़ी अस्तव्यस्त हो गई थी। सदन के भीतर किसी महिला के अपमान की यह अभूतपूर्व घटना थी इस समय करुणानिधि मुख्यमंत्री थे। जिसका बदला जयललिता ने 1991 के विधानसभा चुनाव में 234 में से 225 सीटें जीतकर लिया था। इसके बाद पोचो जयललिता के परिधान का अनिवार्य अंग बन गया था।

तमिलनाडु में चुनाव 6 अप्रैल को होने हैं। राज्य की 234 सीटों के लिए मतगणना 2 मई को सुबह से शुरू होगी। तमिलनाडु की राजनीति पिछले 50 वर्षों से डीएमके और अन्नाद्रमुक पर हावी रही हैं। 2011 में, जे जयललिता के नेतृत्व वाली अन्नाद्रमुक ने एम. करुणानिधि नेतृत्व वाली द्रमुक को हराया। 2016 के विधानसभा चुनावों के दौरान, AIADMK ने 136 सीटों के साथ अपना बहुमत बरकरार रखा, जबकि DMK ने 98 सीटों पर अपनी ताकत बढ़ा दी।

हालांकि, तमिलनाडु विधानसभा चुनाव 2021 में, दोनों प्रमुख राजनीतिक दलों की मृत्यु के कारण उनके नेतृत्व में बदलाव आया है दो प्रमुख नेता, जयललिता और करुणानिधि, जिनका 2016 और 2018 में निधन हो गया था। इस चुनाव में AIADMK का नेतृत्व राज्य के प्रमुख मुख्यमंत्री पलानीस्वामी कर रहे हैं, जबकि DMK का नेतृत्व करुणानिधि के बेटे स्टालिन कर रहे हैं।

AIADMK और DMK से, तमिलनाडु विधानसभा चुनाव लड़ने वाले अन्य राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस पार्टी हैं। ​भाजपा 25 विधानसभा सीटों पर अन्नाद्रमुक के साथ एनडीए के साथी के रूप में चुनाव लड़ेगी। कांग्रेस ने डीएमके के साथ समझौते पर मुहर लगा दी है और 25 विधानसभा सीटों पर भी चुनाव लड़ेगी

Ashiki

Ashiki

Next Story