×

Controversial Statement: DMK नेता के विवादित बयान से सियासत गर्म, बिहार के लोगों पर की अभद्र टिप्पणी, जानिए क्या है पूरा मामला

Controversial Statement: डीएमके नेता (DMK Leader) केएन नेहरू (KN Nehru) ने बिहार के लोगों पर अभद्र टिप्पणी करके नया विवाद खड़ा कर दिया है। उन्होंने बिहार के लोगों को कम दिमाग वाला बताया। साथ ही, उन पर तमिलों की नौकरियां छीनने का आरोप भी लगाया। 

Network

NetworkWritten By NetworkDurgesh BahadurPublished By Durgesh Bahadur

Published on 30 July 2021 12:49 PM GMT

dmk-leader-kn-nehru-controversial-statement
X

डीएमके नेता केएन नेहरू ( साभार : सोशल मीडिया )

Download Amar Ujala App for Breaking News in Hindi & Live Updates. https://www.amarujala.com/channels/downloads?tm_source=text_share

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Controversial Statement: तमिलनाडू में डीएमके के नेता केएन नेहरू (DMK Leader KN Nehru) ने बिहार के लोगों पर अभद्र टिप्पणी करते हुए उन्हें कम दिमाग वाल बताया है। साथ ही उन पर तमिलों की नौकरियां छीनने का आरोप भी लगाया है। इस तरह उन्होंने नया विवाद खड़ा कर दिया है।

बता दें कि तमिलनाडु के नगर प्रशासन मंत्री और डीएमके नेता केएन नेहरू ने बिहार के लोगों पर नस्लीय टिप्पणी की है। वहीं उनका यह बयान बड़ा विवाद खड़ा कर सकता है। बताया जा रहा है कि मंत्री ने बिहार के लोगों को तमिलों से कम होशियार बताया। साथ ही आरोप लगाया कि बिहार के लोग तमिलनाडु में आकर स्थानीय निवासियों की नौकरियां छीन रहे हैं।

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले पेगासस कथित जासूसी कांड को लेकर बनी संसदीय समिति में शामिल भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा पर उन्हें 'बिहारी गुंडा' कहने का आरोप लगाया था। इस मामले में विवाद अब तक शांत नहीं हुआ है। वहीं अब एक और विवाद जन्म लेता नजर आ रहा है।

डीएमके नेता का बयान-

डीएमके नेता केएन नेहरू ने यह बयान 25 जुलाई को दिया। उस वक्त वह तिरुचिरापल्ली स्थित डीएमके कार्यालय से एक रोजगार कैंप को संबोधित कर रहे थे। करीब एक सप्ताह तक चलने वाला यह कार्यक्रम 23 जुलाई को शुरू हुआ था, जिसमें केएन नेहरू 25 जुलाई को शामिल हुए थे। अपने भाषण के दौरान केएन नेहरू ने कहा कि बिहार और उत्तर भारत के लोग तमिलनाडु में तमिलों की नौकरियां छीन रहे थे। वे बिना तमिल और अंग्रेजी जाने स्थानीय बैंकों और अन्य स्थानों पर काम कर रहे हैं। डीएमके नेता ने अपने भाषण में कहा कि बिहार के लोग तमिलों से कम समझदार होते हैं।

लालू प्रसाद यादव का भी दिया हवाला-

केएन नेहरू ने अपने भाषण के दौरान राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि जब लालू यादव रेल मंत्री थे, तो उन्होंने रेलवे में निचले स्तर के पदों पर बिहार के लोग भर दिए थे। बिहार के करीब 4000 लोग इस वक्त त्रिची स्थित दक्षिण रेलवे के गोल्डन रॉक वर्कशॉप में काम कर रहे हैं। रेलवे में सबसे ज्यादा गेटकीपर बिहार के हैं। यह सब लालू प्रसाद यादव की वजह से है।

जब वह रेल मंत्री थे तो उन्होंने बिहार के अपने सभी साथियों को रेलवे की परीक्षाओं में पास करा दिया और उन्हें नौकरियां दिला दीं। ये लोग न तो तमिल जानते हैं और न ही हिंदी। इनके पास तो तमिलों की तरह दिमाग भी नहीं है। इसके बावजूद वे तमिलनाडु में काम कर रहे हैं। वहीं उनके इस बयान पर सियासी बाजार गर्म हो गया है। विपक्ष हमलावर हो गया है। माना जा रहा है कि उनका यह बयान बड़ा विवाद खड़ा कर सकता है।

Durgesh Bahadur

Durgesh Bahadur

Next Story