×

Blackberry Era Ends: खत्म हुआ ब्लैकबेरी का जमाना, 4 जनवरी से बन्द हो जाएगा सॉफ्टवेयर

Blackberry Era Ends: ब्लैकबेरी के मोबाइल फोन की सिक्योरिटी इतनी जबर्दस्त होती थी कि अमेरिकी प्रेसिडेंट तक ब्लैकबेरी फ़ोन इस्तेमाल करते थे। अब इसका ज़माना भी खत्म।

Blackberry Era Over: Blackberry era is over, software will be closed from January 4
X

ब्लैकबेरी का ज़माना भी खत्म: photo - social media 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Blackberry: ब्लैकबेरी के मोबाइल फोन (blackberry mobile phone) किसी समय लोकप्रियता के शिखर पर रहते थे और इन फोन की सिक्योरिटी इतनी जबर्दस्त होती थी कि अमेरिकी प्रेसिडेंट तक ब्लैकबेरी फ़ोन इस्तेमाल करते थे ( Blackberry phones used US President)। लेकिन टेक्नोलॉजी बदलने के साथ ब्लैकबेरी का ज़माना भी खत्म (Blackberry era is over) हो गया है और 4 जनवरी से ये फ़ोन काम करना पूरी तरह बन्द कर देंगे।

मंगलवार 4 जनवरी ब्लैकबेरी का अंतिम दिन (January 4 Blackberry's Last Day) होगा क्योंकि इस दिन से कंपनी अपने क्लासिक मोबाइल फ़ोन को सपोर्ट करना बंद कर देगी। इसका मतलब ये है कि ब्लैकबेरी के सभी पुराने मॉडल, जो एंड्रॉयड सॉफ्टवेयर पर नहीं चलते हैं वे सब बेकार हो जाएंगे। ब्लैकबेरी ने अपने अनोखे ऑपरेटिंग सिस्टम का अंतिम वर्जन 2013 में लांच किया था। ब्लैकबेरी की टेक्नोलॉजी किसी समय में सबसे विशिष्ट कही जाती थी और इसे हैक प्रूफ (Hack Proof Blackberry) माना जाता था।

photo - social media

ब्लैकबेरी ने सितंबर 2020 में की थी घोषणा

ब्लैकबेरी ने सितंबर 2020 में घोषणा की थी कि वह सिक्योरिटी सॉफ्टवेयर और सेवाओं पर ही फोकस करेगी और ये सेवाएं ब्लैकबेरी लिमिटेड (Blackberry Limited) के नाम से सरकारों और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को उपलब्ध कराई जाएंगी।

वैसे, ब्लैकबेरी वर्ष 2016 से ही फोन बिजनेस से बाहर है लेकिन उसने अपने ब्रांड को इस्तेमाल करने का लाइसेंस अन्य फोंन निर्माताओं को देना जारी रखा है। हाल में ब्लैकबेरी ने अमेरिका की कंपनी ऑनवर्ड मोबिलिटी को एन्ड्रॉयड पर चलने वाली 5 जी डिवाइस के लिए लाइसेंस दिया है।

photo - social media

ब्लैकबेरी को क्रैकबेरी भी कहा जाता था

90 और 2000 के दशक में ब्लैकबेरी के पुराने फोन इतने लोकप्रिय थे कि इन फोन को क्रैकबेरी कहा जाता था। ब्लैकबेरी फोन के कीबोर्ड को बेहद पसंद किया जाता था। ये फ़ोन एक स्टेटस सिंबल माने जाते थे और टॉप सेलेब्रिटीज़ इन्हें हाथ में लेकर चलती थीं। अपने पीक समय में 2012 में ब्लैकबेरी के 8 करोड़ एक्टिव यूजर थे।

ब्लैकबेरी की शुरुआत 1996 में रिसर्च इन मोशन के नाम से हुई थी और उस समय ये पेजर बनाती थी। तीन साल बाद रिसर्च इन मोशन कंपनी ने ब्लैकबेरी 850 मॉडल (blackberry 850 model) लॉन्च किया और तब से ब्लैकबेरी नाम की शुरुआत हुई।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story