Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

चिड़ियाघर में मचा हड़कंप: 8 शेर मिले कोरोना संक्रमित, पहली बार हुआ ऐसा

हैदराबाद चिड़ियाघर में आठ एशियाई शेरों में कोरोना वायरस पॉजिटिव की रिपोर्ट आई है। उनमें लक्षण मिलने पर यह जांच की गई थी।

Ramkrishna Vajpei

Ramkrishna VajpeiWritten By Ramkrishna VajpeiShreyaPublished By Shreya

Published on 4 May 2021 7:11 AM GMT

Lion Corona Positive
X

एक स्थान पर बैठे शेर (सांकेतिक फोटो साभार- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हैदराबाद: कोरोना वायरस (Coronavirus) दिन पर दिन खतरनाक होता जा रहा है। अब देश में अपनी तरह का पहला मामला सामने आया है, जिसमें हैदराबाद चिड़ियाघर (Hyderabad Zoo) में आठ एशियाई शेरों में कोरोना वायरस पॉजिटिव की रिपोर्ट आई है। सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी ने 29 अप्रैल को नेहरू जूलॉजिकल पार्क (NZP) को बताया कि इन शेरों का RT-PCR टेस्ट पॉजिटिव आया था। शेरों में कोरोना वायरस के लक्षण मिलने पर यह जांच की गई थी।

हाल ही में पार्क के 25 कर्मचारियों की कोरोना वायरस रिपोर्ट पॉजिटिव (25 Staff corona positive) आई थी। लेकिन देश में इंसानों में इसके फैलने के बाद जानवरों में संक्रमण की यह पहली खबर है। हालांकि नेहरू जूलॉजिकल पार्क के क्यूरेटर और निदेशक डॉ. सिद्धानंद कुकरेती ने आधिकारिक तौर पर इस खबर की पुष्टि नहीं की। लेकिन उन्होंने कहा कि यह सच है कि शेरों में कोविड के लक्षण दिखाई दिये हैं लेकिन मुझे अभी तक CCMB की RT-PCR रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई है और इसलिए टिप्पणी करना उचित नहीं होगा।

कुत्ते और बिल्लियों की फोटो (साभार- सोशल मीडिया)

कुत्तों और बिल्लियों में भी पाया जा चुका है कोरोना

वाइल्डलाइफ रिसर्च एंड ट्रेनिंग सेंटर (डब्ल्यूआरटीसी) के निदेशक डॉ. शिरीष उपाध्याय ने कहा कि ब्रोंक्स ज़ू में आठ बाघों और शेरों के परीक्षण के बाद ऐसी कोई रिपोर्ट सामने नहीं आई है। हालांकि, वायरस हांगकांग में कुत्तों और बिल्लियों में पाया जा चुका है।

पार्क के अधिकारियों ने कोरोनोवायरस के शेरों का परीक्षण करने का निर्णय लिया क्योंकि पार्क में काम करने वाले वन्यजीव पशु चिकित्सकों ने उनमें कोरोनो वायरस जैसे लक्षणों को देखा था, जिनमें भूख कम लगना, नाक से पानी निकलना और शेरों के बीच खांसी होना शामिल था। 40 एकड़ सफारी क्षेत्र में 12 शेरों का कोरोना टेस्ट किया गया था जिनमें चार नर और चार मादा का टेस्ट पॉजिटिव आया।

शेर (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

शेर के लक्षणों के बारे में अधिकारियों को सूचित करने के बाद प्रबंधन ने पशु चिकित्सकों को नमूने लेने की सलाह दी। ओरोफैरिंजियल (नरम तालू और संकर हड्डी के बीच ग्रसनी का हिस्सा) शेरों के स्वाब के नमूने लिए गए और हैदराबाद में CCMB को भेजे गए।

CCMB वैज्ञानिक अब यह पता लगाने के लिए जीनोम अनुक्रमण करेंगे कि क्या यह वायरस जानवरों या मनुष्यों से आया है। शेरों के मामले ने 30 अप्रैल को मुख्य वन्यजीव वार्डन को विस्तृत सलाह जारी करने के लिए एमओईएफसीसी को चालू कर दिया और उन्होंने ट्रांसमिशन के डर से सभी राष्ट्रीय उद्यानों, अभयारण्यों और बाघों को बंद करने के लिए कहा है।

Shreya

Shreya

Next Story