Top

नोटबंदी की मार: किसान ने फ्री में बांट दिया ढाई लाख रुपए का आलू, लोगों की लगी लॉटरी

आलू व्यापारी अनवर ने शुक्रवार को 20 हजार किलो आलू जनता में बाँट दिया। ढाई लाख से अधिक कीमत का आलू बांटने के पीछे अनवर ने नोट बंदी को कारण बताया।आलू बांटने के पीछे जो भी कारण रहा हो पर आम आदमी की तो लाटरी निकल आई।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 25 Nov 2016 10:18 PM GMT

नोटबंदी की मार: किसान ने फ्री में बांट दिया ढाई लाख रुपए का आलू, लोगों की लगी लॉटरी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

agra02

आगरा : आलू व्यापारी अनवर ने शुक्रवार को 20 हजार किलो आलू जनता में बांट दिया। ढाई लाख से अधिक कीमत का आलू बांटने के पीछे अनवर ने नोटबंदी को कारण बताया।आलू बांटने के पीछे जो भी कारण रहा हो पर आम आदमी की तो लाॅटरी निकल आई।

बता दें 30 नवम्बर से कोल्ड स्टोरेजो में नया आलू स्टॉक के लिए आने लगेगा। इस फसली वर्ष में पूरे प्रदेश में 20 हजार बोरी और सिर्फ आगरा में करीब 6 हजार बोरी आलू कोल्ड स्टोरेज में इकट्ठा है। अब नया आलू स्टोरेजों में आने लगेगा और पुराना स्टॉक हटाया जाएगा।

अनवर की माने तो वर्तमान में नोट बन्द होने के बाद आढ़त वाले आलू नही ले रहे हैं पूरे भारत में कहीं भी भेजने पर किसान को पैसे नही मिल रहे हैं। नोट बंदी के पहले आलू 600 रुपये बोरी तक बिक रहा था।

अब किसान को कोल्ड स्टोरेज में ही 110 रुपये प्रति बोरी देना है और बाजार में 110 रुपये भी आलू के मिलना मुश्किल है ऐसे में किसान आलू को कहाँ ले जाए। फेंकने से अच्छा है की आलू बांट दिया जाए ताकि लोगों की भूख मिट जाए क्योंकि आने वाले समय में आलू फेंकना ही पडेगा।

आगरा में आलू की खपत 2000 बोरी से ज्यादा नही होनी है तो बाकी आलू खराब होना तय है। अनवर ने सरकार से अपील की है की जल्द आलू को श्री लंका भिजवाने की व्यवस्था करे वरना किसान आत्महत्या को मजबूर हो जाएगा। उन्होंने बताया अब लगातार रोज आलू बांटा जाएगा।

आगे की स्लाइड्स में देखिए फोटोज ...

agra-01

agra03

agra04

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story