Top

हवाई सफर करने का शौकीन है ये चोर, कई शहरों से उड़ाया लाखों का माल

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 15 Jun 2016 8:56 PM GMT

हवाई सफर करने का शौकीन है ये चोर, कई शहरों से उड़ाया लाखों का माल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बुलंदशहरः हवाई जहाज में बैठकर वह देश के तमाम शहरों में पहुंचता था। फिर वहां रेकी करता था कि किन पॉश इलाकों में घरों में ताले लगे हैं। इसके बाद अपने साथियों के साथ प्लान बनाता था और पार कर देता था लाखों का माल। सोचा तो उसने शायद ये था कि कभी पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ेगा, लेकिन इमरान हैजा नाम का ये चोर आखिरकार सलाखों के पीछे पहुंच गया। उसे सिकंद्राबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

लंबा चौड़ा है हैजा का इतिहास

-एसएसपी वैभव कृष्ण के मुताबिक इमरान हैजा और उसके साथी सरताज को पकड़ने में पुलिस कामयाब रही।

-गैंग लीडर शाहनवाज और पप्पू नाम के बदमाश कार में बैठकर भागने में कामयाब रहे।

-हैजा पर चोरी, रंगदारी वसूलने, भाड़े पर हत्याएं करने के भी करीब 25 मुकदमे दर्ज हैं।

-वह हवाई सफर करके तमाम शहरों में जाकर चोरियां करता रहा है, रंगदारी और लूट में उसकी तलाश थी।

-गुजरात से लेकर मुंबई की पुलिस तक को इमरान हैजा की कई मामलों में तलाश है।

क्या हुआ बरामद?

-इमरान हैजा के पास 10 लाख कीमत के जेवर मिले।

-उसके पास से दो तमंचे भी पुलिस ने बरामद किए हैं।

-साथी सरताज पर भी 5 हजार रुपए का इनाम है।

-हैजा दिल्ली, कानपुर, नोएडा, बिलासपुर, मुंबई, हैदराबाद, नागपुर में वारदात कर चुका है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story