सावन में है कई शुभ फलदायी योग, ऐसे करेंगे पूजा पूरी होगी मांगी मुराद

Published by Newstrack Published: July 26, 2016 | 3:05 pm

लखनऊ: सावन का पवित्र महीना जिसका हर दिन है खास। इसमें फिर पूजा करने का भी अलग है विधान ,तब पूरी होती है मन मांगी मुराद । जो कालसर्प वाले जातक होते उनके लिए सावन मास में सावन के सोमवार को पूजा करने का विधान है। इस बार सावन कई योग लेकर आ रहा है।

सावन के शुभ फलदायी योग
इस बार सावन 6 सुंदर योग ले कर आया है, वो 6 योग हैं चंद्रादी ,उत्तम गृह ,शुभ वेशी ,अमल ,विद्या ओर बंधुपूज्य योग ! ये योग सावन मास में व्रत रखने  वालों के लिए वरदान समान है मतलब इस बार का सावन धन , ज्ञान , कृषि ,व्यापार , मनोकामना पूर्ति ,आमदनी ओर बीमारी से मुक्ति देने  वाला होगा और कई त्योहार भी सावन में हमारे खुशी को बढ़ाने वाले हो जो शुभ योग में है।

इस बार का सावन 20 जुलाई बुधवार को सूर्योदय से 1 घंटे पूर्व ब्रह्म मुहूर्त में शुरु हुआ था। उस दिन प्रतिपदा तिथि उत्तराशाड नक्षत्र था। इस बार के सावन में चार सोमवार होंगे

चंद्रादी ओर उत्तम गृह के कारण मनोकामना पूर्ति होगी ओर बीमारी कम होगी। इस बार व्रत रखने से आमदनी और रोजगार में भी तरक्की होगी बेरोजगारों को जरूर रोजगार मिलेंगे और साथ ही विद्यार्थियो को भी ज्ञान मिलेगा। साथ ही बीमारी दूर होगी दरिद्रता भी हटेगी।

सिद्धा योग
शिव उपासना करते समय पंचाक्षर मंत्र ( ॐ नमः शिवाय ) ओर ( महामृत्युंजय ) व प्रणय मंत्र साधना आदि मंत्र जाप बहुत जरूरी हैं। इसमें शिव उपासना के साथ
पार्थिव पूजा का भी बहुत महत्व हे साथप्रणय मंत्र साधना ओर शिव मानस पूजा करें तो अति उत्तम होगा।

सावन सोमवार योग

*पहला सोमवार 25 जुलाई को सुकर्म योग में आएगा।  इस सोमवार व्रत को करने से जीवन कष्ट और बधाएं  शीघ्र दूर होंगे।

*दूसरा सोमवार 1 अगस्त को बज्र योग में आएगा। इस में शिव रात्रि आराधना होगी  जिससे स्वास्थ शीघ्र सुधरेगा।

*तीसरा सोमवार 8 अगस्त को साध्य योग में आएगा।  इस दिन विधि-विधान से आराधना करने से कोई भी रुका हुआ कार्य सहजता से पूर्ण होगा।

*चौथा सोमवार 15 अगस्त प्रीति योग में आएगा। इस दिन सोम प्रदोष है इस दिन पूजा करने से दीर्घायु होंगे, साथ ही प्रदोष काल में पूजा करना अधिक फलदायी होगी।

* सावन माह में रात्रि काल में प्रति दिन साधना करने से घी, कपूर, तिल सरसों से आराधना करें।
*2 अगस्त को हरियाली अमावस्या होगी, इसमे आप मंत्र सिद्धि कर सकते हैं।
*6 अगस्त को विनायकी चतुर्थी मनाई जाएगी।
*7अगस्त को नाग पंचमी होगी इस पूजा में ( काल  सर्प दोष ) , शनि गृह राहू गृह से पीड़ित जातक साधना करें
* 15अगस्त को सोम प्रदोष व्रत हैं।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App