हो जाएंगे आप भी हैरान कि मरते हुए रावण ने दिया था लक्ष्मण को ऐसा ज्ञान

लखनऊ: जब-जब रामायण की बात आती है तो लोगों के दिलों में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम के अलावा माता सीता का हरण करने वाले रावण की बुरी छवि जरुर याद आ जाती है। पर बहुत ही कम लोगों को पता है कि रावण को दुनिया का सबसे विद्वान इंसान माना जाता है। ऐसा खुद भगवान राम भी मानते थे।

तभी तो जब भगवान राम ने रावण को मारा, तो अपने छोटे भाई लक्ष्मण से कहा कि इस दुनिया से महान ज्ञानी, नीति, राजनीति और शक्ति का महान पंडित हमेशा के लिए जा रहा है। तुम जाओ और उससे कुछ ज्ञान ले लो। भगवान राम की बात सुनकर लक्ष्मण मरणासन्न स्थिति में पड़े रावण के सिर के पास खड़े हो जाते हैं, पर रावण के कोई ज्ञान न देने की वजह से वह नाराज होकर वापस आ जाते हैं।

जब राम ने समझाया लक्ष्मण को
लक्ष्मण जब वापस बिना ज्ञान लिए आए तो भगवान राम ने लक्ष्मण को समझाया कि अगर किसी से ज्ञान प्राप्त करना हो, तो उसके चरणों के समीप खड़े होते हैं, सिर के पास नहीं। तब लक्ष्मण जा कर रावण के चरणों के पास खड़े हो जाते हैं और रावण उन्हें तीन ख़ास बातें बताता है। बताते हैं आपको वे ख़ास बातें –

lakshman

दुश्मन को कभी कम नहीं समझना चाहिए
मरते-मरते रावण ने जो बातें कहीं, वे आज की दुनिया पर एक दम सही बैठती हैं। लक्ष्मण को सबसे पहले रावण ने बताया था कि अपने दुश्मन को कभी कम नहीं आंकना चाहिए। एक बार अगर आपने दुश्मन को कम समझ लिया तो समझो आपका नाश निश्चित है। मैंने बंदरों को तुच्छ समझा था, लेकिन उन्होंने मेरी सोने की लंका और सेना दोनों ही नष्ट कर दिए।

शुभ काम को जल्दी पूरा करना चाहिए
जब रावण एक दम मरने की स्थिति में था तो उसे अपनी गलती का एहसास हो चुका था। उसने लक्ष्मण से कहा कि किसी भी शुभ काम को करने के लिए समय नहीं लगाना चाहिए। मुझे काफी पहले ही भगवान राम की शरण में आ जाना चाहिए था।

कभी भी अपना राज किसी को नहीं बताना चाहिए
मरते हुए रावण ने लक्ष्मण से कहा कि कोई आपसे चाहे जितना भी करीब हो, कभी उसे राज नहीं बताना चाहिए। एक बार वो आपका राज जान गया तो आपको कभी भी धोखा दे सकता है। मैंने अपने भाई विभीषण को अपनी मृत्यु का राज बताकर खुद ही मुसीबत मोल ली।