×

Tripura: कल सुबह मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे माणिक साहा, फैसले को लेकर विधायकों में नाराजगी

Tripura: भगवा दल ने विपल्ब देब (Vipalb Deb) को हटाकर कांग्रेस (Congress) से बीजेपी (BJP) में आए राज्यसभा सांसद और प्रदेश अध्यक्ष माणिक साहा को राज्य की बागडोर सौंपी है।

Krishna Chaudhary
Published on 14 May 2022 5:53 PM GMT
Manik Saha will take oath as Chief Minister tomorrow morning, displeasure among legislators over the decision
X

अगरतला: मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे माणिक साहा: Photo - Social Media

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Agartala: विधानसभा चुनाव (assembly elections) से एक साल पहले बीजेपी (BJP) ने त्रिपुरा में नेतृत्व परिवर्तन करने का फैसला लिया है। भगवा दल ने विपल्ब देब (Vipalb Deb) को हटाकर कांग्रेस (Congress) से बीजेपी (BJP) में आए राज्यसभा सांसद और प्रदेश अध्यक्ष माणिक साहा को राज्य की बागडोर सौंपी है। बीजेपी विधायक दल की बैठक में साहा के नाम पर मुहर लगाई गई। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, कल यानि 15 मई को राज्यपाल भवन में माणिक साहा नए मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद पूर्व सीएम बिप्लब देब और केंद्रीय पर्यवेक्षक के तौर पर पहुंचे केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने उन्हें बधाई दी।

फैसले को लेकर नाराजगी

लेफ्ट शासित त्रिपुरा में पहली बार भगवा लहराने वाली भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) अपनी सरकार के पांच साल पूरा होने से पहले ही आंतरिक खींचतान में उलझते नजर आ रही है। लंबे समय से विप्लब देब के खिलाफ पनप रहे असंतोष की गंभीरता को भांपते हुए आलाकमान ने अचानक नेतृत्व परिवर्तन का फैसला ले लिया। लेकिन इस फैसले के बाद अंदरूनी कलह साफतौर पर बाहर आ गई। मंत्री राम प्रसाद पॉल ने माणिक साहा के नाम के प्रस्ताव पर आपत्ति जताई।

बताया जा रहा है कि इस दौरान विधायकों के बीच नोंक झोंक भी हुई, मंत्री पोल द्वारा कुर्सियां तोड़े जाने की भी खबर है। पॉल चाहते थे कि उपमुख्यमंत्री और त्रिपुरा के पूर्ववर्ती राजपरिवार के सदस्य जिष्णु देव वर्मा को राज्य का अगला मुख्यमंत्री घोषित किया जाए। दरअसल ये घटना अहम इसलिए है क्योंकि इस तरह की घटनाएं बीजेपी में विरले ही देखने को मिलती है। पार्टी ने हालिया समय में जिस राज्य में भी नेतृत्व परिवर्तन किया है, वहां आलाकमान की तरफ से आए नाम पर मुहर लगाई गई और इसका विरोध नहीं हुआ।

इस्तीफे के बाद बोले बिप्लब देब

त्रिपुरा में पहली भाजपा सरकार के पहले मुख्यमंत्री रहे बिप्लब देब ने शनिवार शाम साढे चार बजे पद से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद उन्होंने कहा कि पार्टी सर्वोपरि है और मैं एक निष्ठावान कार्यकर्ता हूं। आलाकमान ने मुझपर भरोसा दिया था, अब इस्तीफा देने के लिए कहा है इसलिए मैंने इस्तीफा दे दिया। बिप्लब ने कहा कि अभी चुनाव में देरी है, मैं संगठन को मजबूत बनाने के लिए काम करुंगा। बता दें कि पूर्व सीएम बिप्लब देब को त्रिपुरा का बीजेपी अध्यक्ष बनाने की अटकलें है।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story