×

यूपी विधानसभा चुनावः बसपा के गढ़ में सेंधमारी की फिराक में जुटी बीजेपी

बता दें कि कौड़ीराम विधानसभा के कुछ हिस्से और पुराने चिल्लूपार सीट को मिलाकर 2012 में बांसगांव विधानसभा सुरक्षित सीट बनाई गई थी।

By
Updated on: 22 Jan 2017 5:03 AM GMT
यूपी विधानसभा चुनावः बसपा के गढ़ में सेंधमारी की फिराक में जुटी बीजेपी
X
four bsp mla join bjp uttar pradesh
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

गोरखपुरः बांसगांव विधानसभा क्षेत्र में बसपा ने लगातार तीन विधानसभा चुनावों में जीत हासिल की है। यहां से कुल चार बार जीत दर्ज करने के बावजूद इस चुनाव में बसपा को और मेहनत करनी पड़ सकती है। हालांकि इस सीट पर बसपा को मजबूत माना जा रहा है लेकिन बीजेपी भी इस सीट पर कब्ज़ा करने के लिए सेंधमारी के प्रयास में है। बता दें कि गोरखपुर में छठे चरण में 4 मार्च को मतदान होने हैं।

2012 में बनीं थी बांसगांव सुरक्षीत सीट

बता दें कि कौड़ीराम विधानसभा के कुछ हिस्से और पुराने चिल्लूपार सीट को मिलाकर 2012 में बांसगांव सुरक्षित सीट बनाई गई थी। इस सुरक्षित सीट पर 2012 के विधानसभा के चुनाव में बसपा के डा. विजय कुमार को जीत मिली थी। लेकिन इस चुनाव में बसपा ने इनका टिकट काटकर धर्मेंद्र कुमार को प्रत्याशी बनाया है। विजय कुमार सपा के शारदा देवी को हराकर यहां से चुनाव जीते थे।

कांग्रेस ने 5 बार लहराया है जीत का परचम

साल 2012 के चुनाव में बीजेपी, बसपा, सपा और कांग्रेस के चारों उम्मीदवार बाहरी थे। इन सबका बांसगांव विधानसभा से कोई ताल्लुक नहीं था। इस सीट पर बसपा ने चार बार, बीजेपी ने तीन बार और कांग्रेस ने पांच बार जीत हासिल की हैं। सपा ने तीन बार और जेएनपी ने एक बार जीत हासिल कर अपनी उपस्थिति दर्ज कराने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है।

टिकट के लिए कईयों ने लगाई है लाइन

कांग्रेस को यहां 1985 में जीत मिली थी। बीजेपी ने 1996 में अपना परचम लहराया था। सपा ने पहले यहां से शारदा देवी को उम्मीदवार बनाया था लेकिन बाद में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने सुमन पासवान को टिकट दे दिया। बावजूद इसके बदली परिस्थिति में भी पूरी उम्मीद है कि सपा शारदा देवी के टिकट पर फाइनल मुहर लगा देगी। बीजेपी का उम्मीदवार अभी तय नहीं है। यहां से टिकट लेने के लिए कईयों ने लाइन लगा रखी है।

बीजेपी प्रत्याशियों ने की पूरी तैयारी

सांसद कमलेश पासवान के भाई और ब्लाक प्रमुख विमलेश पासवान भी भाजपा से चुनाव की तैयारी में है। गोरख पासवान भी बीजेपी के ही बैनर तले ताल ठोकने की तैयारी में है। हालांकि अभी यह भविष्य के गर्त में है कि बीजेपी से किसे टिकट मिलेगा, लेकिन भावी प्रत्याशियों ने बसपा के गढ़ में खुद को साबित करने और सेंधमारी की तैयारी पूरी कर ली है।

बांसगांव विधानसभा सीट पर कुल मतदाता– 369832 है। इनमें पुरुष मतदाता– 206406, महिला मतदाता– 163408, और थर्ड जेंडर मतदाता- 17 हैं।

Next Story