×

जिले में गूंजती रही है हाथी की धमक, लेकिन अब तक नहीं मिला शहर तक पहुंचने का रास्ता

जिले में अपने असर के बावजूद शहर सीट पर बीएसपी अब तक बहुत पीछे रही है। सभी जातियों के मिश्रित वोट देखते हुए यह सीट हर बार बेहद अहम होती है। पिछले रिकॉर्ड के मुताबिक बीएसपी यहां तीसरे और चौथे नंबर तक पिछड़ती रही है।

zafar
Updated on: 24 Jan 2017 7:24 AM GMT
जिले में गूंजती रही है हाथी की धमक, लेकिन अब तक नहीं मिला शहर तक पहुंचने का रास्ता
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

सहारनपुर: पिछले कई विधानसभा चुनावों में सहारनपुर बसपाई रंग में रंगा दिखा है। यहां से पार्टी के कई उम्मीदवार विधानसभा तक पहुंचते रहे हैं। लेकिन शहर की सीट पर पिछले दो दशक में बीएसपी खाता नहीं खोल सकी है। इस बार फिर पार्टी यहां सब कुछ झोंकने को तैयार है। लेकिन मतदाता का मूड समझना मुश्किल है।

अहम है सीट

-सहारनपुर जिले में अपने असर के बावजूद शहर सीट पर बीएसपी अब तक बहुत पीछे रही है।

-सभी जातियों के मिश्रित वोट देखते हुए यह सीट हर बार बेहद अहम होती है।

-पिछले रिकॉर्ड के मुताबिक बीएसपी यहां तीसरे और चौथे नंबर तक पिछड़ती रही है।

-जबकि शहर की इस सामान्य सीट पर जनता पार्टी से लेकर बीजेपी और सपा अपनी जीत दर्ज कराते आए हैं।

गढ़ में पीछे

-1996 के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी संजय गर्ग ने 77,690 मत प्राप्त कर भाजपा के लाजकृष्ण गांधी को परास्त किया था।

-लाजकृष्ण गांधी को 69,281 मत प्राप्त हुए थे।

-2002 में पूर्व विधायक संजय गर्ग ने जनता पार्टी के टिकट पर 64,706 मत प्राप्त कर रालोद के लाजकृष्ण गांधी को परास्त किया।

-इस बार पूर्व विधायक लाजकृष्ण गांधी को मात्र 36,702 वोट ही मिले।

-इस चुनाव में बीएसपी प्रत्याशी लियाकत अली को 11,115 मतों पर ही संतोष करना पड़ा था।

बीजेपी का दबदबा

-2007 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के राघव लखनपाल शर्मा ने संजय गर्ग से यह सीट छीन ली।

-राघव लखन पाल शर्मा को 76,049 वोट मिले थे। संजय गर्ग को 57,875 वोट ही मिल सके थे।

-2012 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के राघव लखनपाल शर्मा के वोट भी बढ़े और वह सीट पर कब्जा बरकरार रखने में सफल रहे।

-उन्हें इस बार 85,187 वोट मिले। कांग्रेस प्रत्याशी स्व. सलीम इंजीनियर 72,544 वोट लेकर दूसरे नंबर पर रहे थे।

-पिछले चार चुनावों के नतीजों पर नजर डालें तो सहारनपुर शहर सीट बीजेपी और सपा की तुलना में बाकी दलों के लिए मुश्किल साबित होती रही है और एक बार कड़े मिकाबले का इंतजार है।

सहारनपुर शहर सीट एक नजर में

पुरुष मतदाता 210096

महिला मतदाता 182625

थर्ड जेंडर मतदाता 37

कुल मतदाता 392760

मतदान केंद्र 96

मतदेय स्थल 384

zafar

zafar

Next Story