×

सपा की टूट का फायदा मिल सकता है कांग्रेस को, जा सकती है अखिलेश खेमे के साथ

aman
By aman
Updated on: 30 Dec 2016 2:13 PM GMT
सपा की टूट का फायदा मिल सकता है कांग्रेस को, जा सकती है अखिलेश खेमे के साथ
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) में टिकट को लेकर मचे घमासान पर बाकी राजनीतिक पार्टियां लगातार नजर बनाए हुए है। राजनीतिक पंडितों का मानना है कि इसका सबसे बड़ा फायदा कांग्रेस को हो सकता है। इसी के मद्देनजर कांग्रेस ने भी यूपी चुनाव को लेकर अपनी रणनीतियों में फेरबदल किया है।

गौरतलब है कि शुक्रवार शाम सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने अपने आवास पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सीएम अखिलेश और रामगोपाल यादव को पार्टी से 6 साल के लिए निकलने की घोषणा की। इसके बाद से सपा के अगले कदम को लेकर कयासों का दौर जारी है। साथ ही विपक्षी पार्टियां भी लगातार नजर बनाये हुए है ताकि वो अपना अगला कदम उठा सकें।

ये भी पढ़ें ...बेटे के लिए कठोर हुए मुलायम, सीएम अखिलेश और रामगोपाल को 6 साल के लिए पार्टी से निकाला

अखिलेश से लगातार संपर्क में रहे हैं पीके

गौरतलब है कि बीते महीने कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर (पीके) लगातार सपा के संपर्क में रहे हैं। गाहेबगाहे पत्रकारों से बातचीत में सीएम अखिलेश ने भी कांग्रेस से गठबंधन को कभी नकारा नहीं है। वो भी हंसकर या तो इस सवाल को टाल जाते थे या ये कहते रहे हैं कि यदि ऐसा होता है तो कौन रोक लेगा। आज जब सपा टूट के कगार पर खड़ी है तो सपा के अखिलेश खेमे का कांग्रेस से गठबंधन के कयास तेज हो गए हैं।

ये भी पढ़ें ...CM अखिलेश को बड़ा झटका, सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह ने भेजा कारण बताओ नोटिस

कांग्रेस कर सकती है अखिलेश खेमे का समर्थन

सूत्रों की मानें तो कांग्रेस के यूपी प्रभारी गुलाम नबी आजाद बीते चार दिनों से यूपी के दौरे पर हैं। वो लगातार बदलती स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। इससे पहले अखिलेश यादव ने 235 उम्मीदवारों की सूची जारी की थी। जिसके बाद से इस कयास ने जोर पकड़ लिया है कि आने वाले चुनावों में कांग्रेस अखिलेश खेमे को समर्थन करने पर विचार कर सकती है।

ये भी पढ़ें ...रामगोपाल ने निष्कासन को बताया असंवैधानिक, बोले- मुलायम खुद ही हैं अनुशासनहीन

यह राजनीति का समय नहीं

उल्लेखनीय है कि सपा में मचे घमासान पर कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि बीजेपी और बीएसपी की तरह हम इस स्थिति का कोई राजनीतिक फायदा नहीं उठाना चाहते हैं। यह उनका आंतरिक मामला है। उन्होंने कहा था कि 'सपा और यादव परिवार को जल्द ही इस मसले को सुलझाना चाहिए। यह राजनीति करने का समय नहीं है।'

ये भी पढ़ें ...CM अखिलेश को पार्टी से निकाले जाने पर प्रतिक्रियाएं शुरू, शरद यादव ने कहा दुर्भाग्यपूर्ण

aman

aman

Next Story