×

सपा में संग्राम : गुरुवार को इस तरह आगे बढ़ी रूठने-मनाने की कहानी

By
Updated on: 15 Sep 2016 2:43 PM GMT
सपा में संग्राम : गुरुवार को इस तरह आगे बढ़ी रूठने-मनाने की कहानी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: मुलायम सिंह यादव परिवार में चल रहे झगड़े के बीच समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव गुरुवार को सीएम अखिलेश यादव से शाम मिलने पहुंचे। इससे पहले दिल्ली से यहां आए सपा अध्यक्ष से उन्होंने आधा घंटे तक पार्टी मुख्यालय में मुलाकात की थी।

सुबह पार्टी के महासचिव और प्रवक्ता राम गोपाल यादव यहां आए और मीडिया से बात करने के बाद सीएम अखिलेश यादव से बात की। उन्होंने परिवार में हुए ताजा झगड़े के लिए हाल ही में शामिल हुए और राज्यसभा सदस्य बनाए गए अमर सिंह को जिम्मेदार बताया और संकेत दिया कि उन्हें निकाला जा सकता है जबकि शिवपाल उनका बचाव करते दिखे। शिवपाल ने कहा कि तोड़ने नहीं बल्कि जोड़ने से पार्टी मजबूत होती है।

ये माना जा रहा है कि सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव सीएम अखिलेश से नाराज हैं। गुरुवार सुबह दिल्ली से लखनऊ पहुंचने के बाद वह सीएम अखिलेश से नहीं मिले। उन्होंने अपने आवास पर पार्टी के नए प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव को घर बुलाकर उनसे एक बार और मुलाकात की।

इस दौरान अकेले में मुलायम और शिवपाल के बीच तकरीबन आधा घंटे तक बातचीत हुई है। इसके बाद शिवपाल घर लौट गए। उनके बीच फिलहाल क्‍या हुई यह जानकारी नहीं हो सकी है। इससे पहले सीएम से मिलने के बाद राम गोपाल ने कहा कि शुरू से एक आदमी पार्टी को बर्बाद करने पर आमादा है। एक आदमी पार्टी को नुकसान पहुंचाने में लगा है। उन्होंने कहा कि नेताजी की सरलता का कुछ लोग फायदा उठा लेते हैं। वहीं बुधवार को सीएम अखिलेश ने मीडिया से बातचीत में कहा था कि “बाहरी लोग हस्तक्षेप करेंगे तो पार्टी कैसे चलेगी?”

रामगोपाल ने अमर सिंह का नाम लिए बगैर ये बातें कहीं

रामगोपाल ने कहा कि नेता जी की और सीएम साहब की बात हो जाएगी तब सब साफ हो जाएगा। उन्होंने मौजूदा हालात का जिक्र -किए जाने पर कहा कि अभी तक बात कुछ बिगड़ने वाली नहीं है।राम गोपाल से पूछा गया कि क्या ऐसे लोगों पर कार्रवाई होगी तो उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता यही मांग कर रहे हैं। दूसरी ओर शिवपाल सिंह यादव का कहना था कि अखिलेश अभी सीएम हैं लेकिन चुनाव के बाद बहुमत आने पर विधायक तय करेंगे कि नेता कौन हो। इस तरह उन्होंने अखिलेश की अगले वार सीएम बनने की दावेदारी को पूरी तरह नकार दिया।शिवपाल ने कहा कि नेताजी मुलायम सिंह यादव ने उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाकर संगठन की जिम्मेदारी दी है ओर वो इसे पूरी तरह इमानदारी से निभाएंगे।

Next Story