×

सपा ने फिर किया आचार संहिता का उल्लंघन, इंजीनियरिंग कॉलेज में LCD गाड़ियां कर रहीं प्रचार

Rishi
Updated on: 20 Jan 2017 11:47 AM GMT
सपा ने फिर किया आचार संहिता का उल्लंघन, इंजीनियरिंग कॉलेज में LCD गाड़ियां कर रहीं प्रचार
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

लखनऊ: राजधानी लखनऊ में फेज-3 में 19 फरवरी को वोटिंग होनी है, लेकिन इससे पहले आचार संहिता की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। इसका जीता जागता उदाहरण मोहनलालगंज के अंबालिका इंजीनियरिंग कॉलेज ऑफ इंस्टीट्यूट में देखने को मिला। यहां पर समाजवादी पार्टी की एलसीडी प्रचारक गाड़ियां कॉलेज के अंदर छात्रों को समाजवादी पार्टी की उपलब्धियां बता रही हैं और जिला प्रशासन को इसकी भनक तक नहीं लगी। बता दें कि यह इंजीनियरिंग कॉलेज कांग्रेस एमएलए अराधना मिश्रा का है, जो कांग्रेस एमपी प्रमोद तिवारी की बेटी हैं।

क्या है पूरा मामला ?

-मोहनलालगंज के अंबालिका इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट में समाजवादी पार्टी की एलसीडी लगी गाड़ियां पहले चौराहे पर गांव-गांव जाकर समाजवादी पार्टी की उपलब्धियां बताती थीं। अब आचार संहिता लगने के बाद सारी गाड़ियां अंबालिका कॉलेज के परिसर में खड़ी है। यह एलसीडी गाड़ियां छात्र-छात्राओं को स्कूल आते-जाते समय समाजवादी पार्टी की उपलब्धियां बताती हैं। बच्चों से पूछने पर पता चला कि गाड़ियां यहां कई दिनों से खड़ी हैं और समाजवादी पार्टी के विकास कार्यों के बारे में बताती हैं। वहीं, जब इस मामले में कॉलेज प्रशासन से पूछा गया तो उन्होंने कहा यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि उन्होंने कुछ नहीं मालूम है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story