×

सतीश चंद्र मिश्र के निशाने पर BJP, कहा- PM मोदी और अमित शाह ब्राह्मण विरोधी

aman
By aman
Updated on: 17 Oct 2016 1:29 PM GMT
सतीश चंद्र मिश्र के निशाने पर BJP, कहा- PM मोदी और अमित शाह ब्राह्मण विरोधी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कानपुर: बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र सोमवार को कानपुर में थे। इस दौरान रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने सपा में घमासान पर चुटकी ली। सतीश चंद्र मिश्र बोले, चाचा के ऊपर भतीजा, उसके ऊपर पिता, उनके ऊपर कौन? इसी की लड़ाई चल रही है। प्रदेश कौन चला रहा है पता ही नहीं चल रहा। ये बातें सतीश चंद्र मिश्र ने घाटमपुर में भाईचारा कार्यकर्ता सम्मलेन में कही।

बीजेपी मंदिर के नाम पर जुटा रही चंदा

इसके बाद सतीश चंद्र मिश्र ने बीजेपी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, 'बीजेपी मंदिर के नाम पर देश और विदेशों से रुपया इकठ्ठा कर रही है। इन्हें चुनाव के वक्त भगवान याद आते हैं और जब मीडिया इनसे पूछती है तो अमित शाह कहते है यह हमारा एजेंडा नहीं है।'

बीजेपी पर भड़ास निकलते हुए सतीश चंद्र मिश्र ने कहा, जो भगवान् राम के नहीं हुए, वो आपके और प्रदेश के क्या होंगे।

मोदी-शाह पर भी निशाना

बसपा महासचिव ने आगे कहा, बीजेपी में नरेंद्र मोदी और अमित शाह ब्राह्मण विरोधी हैं। इन्होंने डॉ. मुरली मनोहर जोशी और लक्ष्मी कांत वाजपेयी को मार्गदर्शक मंडल में रख दिया। इन्हें अपराधी प्रवृति के लोग पसंद हैं जिसे प्रदेश अध्यक्ष बनाया है।

प्रदेश में गुंडाराज

सतीश मिश्र ने कहा कि 'यूपी में गुंडे, माफियाओं का राज चल रहा है। छोटे दुकानदारों से फिरौती का खेल चल रहा है। प्रदेश की इस स्थिति से यहां के लोगों में दहशत है।' उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी अब टूट गई है। आज सपा का मुखिया कौन है, प्रदेश कौन चला रहा है, किसी को पता नहीं। सपा में वर्चस्व की लड़ाई चल रही है। इसमें सब से ज्यादा नुकसान जनता का हो रहा है।

बसपा सरकार में थे अच्छे दिन

बसपा महासचिव ने आगे कहा, यूपी में जब बहन मायावती की सरकार थी, तब भी शासन चलता था। पुलिस वालों को हथियारों की जरूरत नहीं थी। लेकिन अब पता नहीं कि किस पुलिस वाले को कहां गोली मार दी जाए।आज आईएएस और पीसीएस अधिकारी भी कुछ नहीं कर पा रहे। बहन जी के समय में गुंडा और माफिया नजर नहीं आते थे। वे या तो जेल में थे या फिर प्रदेश छोड़ कर भाग गए थे।

सपा-बीजेपी में है सांठ-गांठ

सतीश चंद्र मिश्र ने सपा और बीजेपी पर सांठ-गांठ का आरोप लगते हुए कहा, पहले ये पर्दे के पीछे तय करते थे कि किस सीट पर चुनाव लड़ना है और किस पर नहीं। लेकिन अब तो यह खुलकर सामने आ गए हैं। पीएम मोदी नेताजी की तारीफ करते हैं तो नेताजी मोदी की। कभी-कभी ये इतना हो जाता है कि सपा के नेताओं को ही लज्जा महसूस होने लगती है। ये दोनों पार्टियां एक ही सिक्के के दो पहलू हैं।

भगवान के विरोध में बोलने वाले आज बीजेपी के साथ

मिश्र ने कहा, बीजेपी ने स्वामी प्रसाद मौर्य को अपनी पार्टी में लिया, जो पहले बसपा थे। ये वही स्वामी प्रसाद मौर्य हैं जिन्होंने एक समय कहा था कि 'यह गोबर के गणेश हैं इनकी पूजा नहीं करनी चाहिए।' तब बहनजी ने स्वामी प्रसाद मौर्य को जमकर फटकार लगाई थी। जब स्वामी प्रसाद मौर्य ने पार्टी छोड़ी तो उन्होंने यही वजह बताई थी। अब बीजेपी ऐसे लोगों को अपने साथ ले रही है जो भगवान को ऐसा कहते रहे हैं।

दलित-ब्राह्मण मिल जाएं तो बनेगी बसपा सरकार

सतीश चंद्र मिश्र ने अपने संबोधन में जनता को बताया कि प्रदेश में ब्राह्मण 16 प्रतिशत हैं और दलित 22 प्रतिशत। यह आंकड़ा 38 प्रतिशत के करीब पहुंचता है। यदि यह हमारी ताकत मिल जाए तो हम सपा और बीजेपी पर भारी पड़ सकते हैं और बहनजी को सीएम बनाकर लखनऊ भेज सकते हैं।

aman

aman

Next Story