×

सतीश चंद्र बोले- बीजेपी ने मंदिर के नाम पर जमा किए करोड़ो, अब कहते हैं एजेंडे से बाहर

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 6 Nov 2016 10:43 AM GMT

सतीश चंद्र बोले- बीजेपी ने मंदिर के नाम पर जमा किए करोड़ो, अब कहते हैं एजेंडे से बाहर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

झांसी: उत्तर प्रदेश चुनाव की सरगर्मी दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। समाजवादी पार्टी जहां रथ यात्रा के जरिए अपनी उपलब्धियों को बताने जनता के बीच जा रही है। भारतीय जनता पार्टी ने परिवर्तन यात्रा की शुरुआत कर रही है। वहीं, बहुजन समाज पार्टी भले ही कोई रथ यात्रा नहीं निकाल रही हो, लेकिन विरोधी पार्टियों को जमकर आड़े हाथों ले रही हैं। झांसी में बीएसपी महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा, ''बीजेपी ने हजारों करोड़ मंदिर के नाम पर जमा किए। फिर सारा पैसा खा लिया और अब कहते हैं मंदिर एजेंडे से बाहर है। यहां मौजूद भीड़ बता रही है कि आने वाले चुनाव में क्या होने वाला है। ''

बलरामपुर में क्या बोले थे सतीश चंद्र ?

बलराम में आयोजित चुनावी सामाजिक भाईचारा सम्मेलन में शनिवार को बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र ने सपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा था कि लूट के पैसों से एक रथ बनाया गया। जब प्रदेश के मुख्यमंत्री साइकिल नहीं संभाल पाए तो रथ क्या संभालेंगे। उसी का नतीजा है जो रथ खराब हो गया। ये समाजवादी पार्टी का प्रदेश में जो हश्र हो रहा है उसकी निशानी है।

'लूट के पैसों को लेकर हो रहा झगड़ा'

सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा था कि लूट के पैसों को लेकर समाजवादी पार्टी का झगड़ा बढ़ रहा है। प्रदेश सरकार अपराध पर लगाम नहीं लगा पा रही है। अखबारों में बड़ी बड़ी क्राइम आम बात हो गई है। जब मुख्यमंत्री से लोग जवाब मांगते है तो वो कहते है कि हम देख रहे हैं हम देखेंगे। पांच साल में जो कानून व्यवस्था प्रदेश की मायावती ने बनाई थी वो अखिलेश सरकार ने बिगाड़कर रख दी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story