×

नोटबंदी पर बोलीं शीला दीक्षित- जिस दिन लोगों का विश्वास टूटेगा वो नया विकल्प तलाशेंगे

aman
By aman
Updated on: 28 Nov 2016 1:23 PM GMT
नोटबंदी पर बोलीं शीला दीक्षित- जिस दिन लोगों का विश्वास टूटेगा वो नया विकल्प तलाशेंगे
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कानपुर: यूपी में कांग्रेस की सीएम कैंडिडेट शीला दीक्षित सोमवार को नोटबंदी के खिलाफ 'आक्रोश दिवस' के मौके पर कानपुर में थीं। इस दौरान उन्होंने अपनी भड़ास 'नरेंद्र मोदी मोबाइल एप' पर निकाली।

शीला दीक्षित ने कहा, 'नई करेंसी में मोदी का भाषण देखा जा रहा है। यह इकॉनमी के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। यह देश के हित में है। किसी भी देश में ऐसी नोटबंदी हुई है। उन्होंने कहा कि लोग त्रस्त हैं आने वाले चुनाव में लोगों का विश्वास टूटेगा और नया विकल्प तलाशेंगे।'

ये भी पढ़ें ...सूरत के बाद काशी में इस जोड़े ने चाय-रसगुल्ले पर शादी कर नोटबंदी का किया समर्थन

देश लाइन में खड़ा है

'आक्रोश दिवस' के मौके पर कानपुर पहुंची शीला दीक्षित ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि 'इस वक्त देश में जो हालात हैं उससे लोग बेचैन हैं। खाता में रहने के बाद भी पैसा नहीं मिल रहा। देश लाइन में खड़ा है। अब तक 70 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं। यदि इन्हें नोटबंदी ही करनी थी तो इसके लिए तैयारी करनी चाहिए थी। यह बहुत ही गंभीर समस्या है।'

सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रहा

शीला ने कहा कि मुझे निराशा होती है कि सरकार को कोई चिंता ही नहीं है। हर कोई परेशान है। संसद चलने के बाद भी सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रहा। आने वाले चुनाव तक यदि ऐसा ही चलता रहा तो लोग जरूर विकल्प तलाशेंगे।

ये भी पढ़ें ...संसद में बोले राजनाथ, कहा- नोटबंदी कालेधन के खिलाफ जंग, PM चर्चा के लिए तैयार

हमारा आंदोलन जारी रहेगा

शीला दीक्षित ने कहा कि नोटबंदी पर हमारा आंदोलन जारी रहेगा। लोगों को सहूलियत मिलनी चाहिए। ताकि वह रोटी तो खा सके। यह आंदोलन इसी तरह चलता रहेगा।

aman

aman

Next Story