×

विधानसभा चुनाव: बीजेपी ने सभी 6 सीटों पर घोषित किये प्रत्याशी, पिछले चुनाव में आगे थी बीएसपी

1951 के बाद से मुज़फ्फरनगर सदर विधानसभा सीट पर कांग्रेस 7 बार चुनाव जीत चुकी है। बीजेपी यहां से 5 बार विजयी रही है। 2 बार यह सीट सपा के खाते में गई है, जबकि 1-1 बार जनतादल और भारतीय किसान दल ने भी यहां से जीत दर्ज की है।

zafar
Updated on: 17 Jan 2017 7:35 AM GMT
विधानसभा चुनाव: बीजेपी ने सभी 6 सीटों पर घोषित किये प्रत्याशी, पिछले चुनाव में आगे थी बीएसपी
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

विधानसभा चुनाव: बदलता रहा है मतदाताओं का मूड, पिछले चुनाव में बीएसपी ने मारी थी बाजी

मुज़फ्फरनगर: मुजफ्फरनगर में बीजेपी ने अपने प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी है। अलग अलग विधानसभा क्षेत्रों में ताल ठोंकने वाले संभावित उम्मीदवारों से इस बार भी यहां कांटे का मुकाबला होने की संभावना दिखाई देने लगी है। यहां पहले चरण में 11 फरवरी को मतदान होना है, जिसके लिए 17 जनवरी से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। एक नजर पिछले विधानसभा चुनाव पर।

सदर विधानसभा: बीजेपी ने इस बार सदर सीट पर कपिल देव अग्रवाल को मैदान में उतारा है। 2012 के विधानसभा चुनाव में यहां से समाजवादी पार्टी के चितरंजन स्वरुप, भातीय जनता पार्टी से अशोक कंशल और बहुजन समाज पार्टी से अरविन्द राज शर्मा मुख्य मुकाबले के प्रत्याशी थे।

-इस चुनाव में सपा के चितरंजन स्वरुप विजयी रहे थे।

-2016 के उपचुनाव में बीजेपी से कपिलदेव अग्रवाल, सपा से गौरव स्वरुप, रालोद से मिथलेश पाल और कांग्रेस से सलमान सईद मुकाबले में थे।

-इस बार बीजेपी के कपिलदेव अग्रवाल ने सपा से यह सीट छीन ली थी।

-1951 के बाद से मुज़फ्फरनगर सदर विधानसभा सीट पर कांग्रेस 7 बार चुनाव जीत चुकी है।

-बीजेपी यहां से 5 बार विजयी रही है।

-2 बार यह सीट सपा के खाते में गई है, जबकि 1-1 बार जनता दल और भारतीय किसान दल ने भी यहां से जीत दर्ज की है।

बुढाना विधानसभा: बुढाना विधानसभा क्षेत्र से इस बार उमेश मलिक बीजेपी के प्रत्याशी हैं। 2012 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर सपा से नवाजिश आलम, निर्दलीय कुंवर असगर अली, कांग्रेस से कमर उज्जमां, और कम्युनिस्ट पार्टी से विजयपाल सिंह यहां मुख्य मुकाबले में थे।

-पिछले विधानसभा चुनाव में यहां से सपा के नवाजिश आलम विजयी रहे थे।

खतौली विधानसभा: इस सीट पर बीजेपी प्रत्याशी के रूप में इस बार बिक्रम सैनी ताल ठोंक रहे हैं। 2012 के विधानसभा चुनाव में रालोद से करतार सिंह भड़ाना, बसपा से तारा चांद शास्त्री और सपा से श्यामलाल बच्ची सैनी के बीच इस सीट के लिए मुख्य मुकाबला हुआ था।

-पिछले चुनाव में इस सीट पर रालोद के करतार सिंह भड़ाना विजयी रहे थे।

पुरकाजी विधानसभा: पुरकाजी सीट पर बीजेपी ने प्रमोद उटवाल पर भरोसा जताया है। 2012 के विधानसभा चुनाव में पुरकाजी सीट के लिए बसपा के अनिल कुमार, कांग्रेस के दीपक कुमार, सपा की उमा किरण और बीजेपी की साध्वी प्राची के बीच टक्कर थी।

-2012 के विधानसभा चुनाव में दिग्गजों को हरा कर बसपा के अनिल कुमार विजयी रहे थे।

चरथावल विधानसभा: चरथावल से इस बार विजय कश्यप बीजेपी के उम्मीदवार हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में चरथावल क्षेत्र में मुख्य मुकाबला बसपा के नूर सलीम राणा, बीजेपी के विजय कुमार, और समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी मुकेश चौधरी के बीच हुआ था।

-इस सीट पर भी बसपा के नूर सलीम राणा ने बाजी मारी थी।

मीरापुर विधानसभा: मीरपुर सीट के लिए इस बार अवतार सिंह भडाना बीजेपी के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं। पिछले 2012 के विधानसभा चुनाव में मीरपुर विधानसभा क्षेत्र में बसपा से मौलाना जमील अहमद कासमी, रालोद से मिथलेश पाल, बीजेपी से वीरपाल निर्वाल और 13 अन्य प्रत्याशी मैदान में थे।

-बसपा ने इस सीट पर भी अपना वर्चस्व साबित किया था और पार्टी उम्मीदवार मौलाना जमील अहमद कासमी यहां से विजयी घोषित हुए थे।

आगे स्लाइड्स में सभी बीजेपी प्रत्याशियों के फोटोज...

विधानसभा चुनाव: बदलता रहा है मतदाताओं का मूड, पिछले चुनाव में बीएसपी ने मारी थी बाजी

उमेश मलिक

विधानसभा चुनाव: बदलता रहा है मतदाताओं का मूड, पिछले चुनाव में बीएसपी ने मारी थी बाजी

विजय कश्यप

विधानसभा चुनाव: बदलता रहा है मतदाताओं का मूड, पिछले चुनाव में बीएसपी ने मारी थी बाजी

विक्रम सैनी

विधानसभा चुनाव: बदलता रहा है मतदाताओं का मूड, पिछले चुनाव में बीएसपी ने मारी थी बाजी

अवतार सिंह भडाना

विधानसभा चुनाव: बदलता रहा है मतदाताओं का मूड, पिछले चुनाव में बीएसपी ने मारी थी बाजी

कपिल देव अग्रवाल

विधानसभा चुनाव: बदलता रहा है मतदाताओं का मूड, पिछले चुनाव में बीएसपी ने मारी थी बाजी

प्रमोद उटवाल

zafar

zafar

Next Story