×

Sonbhadra News: सड़कों की गड्ढामुक्ति की आड़ में डकार लिए गए 2.25 करोड़, जिला पंचायत का कारनामा

Sonbhadra News: वर्ष 2017 में सड़कों को गड्ढामुक्त करने के नाम पर जिला पंचायत में संचालकों सहित 17 लोगों ने 2.25 करोड़ गड़प लिए। मामले में अदालत से हस्तक्षेप की गुहार लगाई गई।

Kaushlendra Pandey
Updated on: 6 Aug 2022 5:05 PM GMT
2.25 crores buried under the guise of potholes, the work of the district panchayat, the order of the FIR
X

सोनभद्र में सड़कों की गड्ढामुक्ति की आड़ में 2.25 करोड़ का घोटाला: Photo- Social Media

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Sonbhadra News: वर्ष 2017 में सड़कों को गड्ढामुक्त करने के नाम पर जिला पंचायत में बड़ा खेल खेले जाने का मामला सामने आया है। आरोप है कि 22 सड़कों को गड्ढामुक्ति के नाम पर, भाजपा नेता एवं सोनभद्र के पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अमरेश पटेल, तत्कालीन अपर मुख्य अधिकारी बीसी पंत और वर्तिका, लेखाकार अजय कुमार शर्मा, वित्तीय परामर्शदाता विनोद कुमार श्रीवास्तव, अवर अभियंता रमेश राम चौरसिया, जसवंत चौहान, अभियंता बलिराम, रेखा पाने वाले फर्म संचालकों सहित 17 लोगों ने 2.25 करोड़ गड़प लिए। मामले में अदालत से हस्तक्षेप की गुहार लगाई गई।

एफआईआर दर्ज कर विवेचना के आदेश

वहां से इस मामले में राबर्ट्सगंज कोतवाली पुलिस (Robertsganj Kotwali Police) को एफ आई आर दर्ज कर विवेचना के आदेश दिए गए हैं। यशवंत सिंह की तरफ से अधिवक्ता विकास शाक्य के जरिए अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में प्रार्थना पत्र प्रस्तुत कर कहा गया था कि जिला पंचायत के उपरोक्त जिम्मेदारों के अलावा ठेकेदार श्यामलाल, राममूर्ति, रामनिवास यादव ,रमाशंकर ,अजीत कुमार ,अनिल कुमार सिंह, अमित कुमार सिंह ,संतोष राय आदि ने मिलकर बगैर तारकोल बिटूमीन, इमल्सन की आपूर्ति के ही मुड़िलाडीह, लसड़ी कला ,मदार, पेटरही, भगवंतपुर माइनर, करकी से खेरवा, सिरपालपुर पेटरही से परसौना, डेहरी कला -रामगढ़ गुरौटी, मंगरदह, नई बाजार -विरधी, सेहुंआ-सफरीपुर, असनहर- आश्रम, बचरा, नौडीहा, कटौली, डोड़हर,डुमरचुआ, म्योरपुर, लिलासी, आदि जगहों की कुल 22 सड़कों का गड्ढा मुक्त कराने का कार्य करा डाला। कार्य पूर्ण दिखाकर पूरी धनराशि भी निकाल ली गई।

महज कागज पर कार्य कराकर पूरी धनराशि गबन कर ली गई है

आरोप है कि जब इस बारे में संबंधित विभागों से जानकारी की गई तो पता चला कि गड्ढा मुक्ति कार्य के लिए जरूरी तारकोल सहित अन्य कई सामग्रियों की आपूर्ति हुई ही नहीं। शिकायतकर्ता का आरोप है कि इससे स्पष्ट है कि महज कागज पर कार्य कराकर पूरी धनराशि गबन कर ली गई है। अधिवक्ता विकास शाक्य ने बताया कि अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट/सिविल जज सीनियर डिविजन सोनभद्र की अदालत ने प्रार्थना पत्र स्वीकार कर, मामले में थाना राबर्ट्सगंज को प्राथमिकी दर्ज कर विधि अनुरूप विवेचना करने का आदेश दिया है।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story