Top

मिशन शक्ति अभियान: अबतक 456 को आजीवन कारावास

मिशन शक्ति अभियान के तहत दर्जनों को मृत्यु दण्ड की तथा 456 अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा दिलाने में सफलता मिली है।

Ashiki Patel

Ashiki PatelPublished By Ashiki Patel

Published on 6 April 2021 3:34 PM GMT

Mission Shakti
X
फाइल फोटो 
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में जीरो टालरेंस की नीति को अपनाते हुए योगी सरकार लगातार न्यायालयों अपराधियों के खिलाफ प्रभावी पैरवी करके उन्हे सजा दिलाने का काम कर रही है। पिछले पांच महीने में तो राज्य सरकार ने ऐसे अपराधियों में एक दर्जन अभियुक्तों को मृत्युदण्ड की तथा 456 अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा दिलाने का काम किया है।

इतने अपरधियों को मिली आजीवन कारावास

पिछले नवरात्र यानी 17 अक्टूबर 2020 से चलाये गये मिशन शक्ति अभियान के दौरान महिला एवं बाल अपराधों में प्रभावी अभियोजन के माध्यम से इन अपराधों में लिप्त अपराधियों को अधिकतम सजा दिलाने की दिशा में काम किए गए हैं। अपर मुख्य सचिव गृह, अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया है कि विगत 17 अक्टूबर से इस वर्ष 24 मार्च तक लगभग 5 माह से अधिक की अवधि में अभियोजन विभाग ने प्रभावी पैरवी के फलस्वरूप एक दर्जन अभियुक्तों को मृत्यु दण्ड की तथा 456 अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा दिलाने में सफलता मिली है।

अवस्थी ने बताया कि अभियोजन विभाग को 414 अभियुक्तों को दस वर्ष एवं उससे अधिक का कारावास तथा 1178 अभियुक्तों को दस वर्ष से कम के कारावास की सजा प्रभावी पैरवी के माध्यम से दिलाने में सफलता प्राप्त हुयी है। इसके अलावा 503 अभियुक्तों को अर्थदण्ड़ दिलाने में भी सफलता मिली है।

अपर पुलिस महानिदेशक, अभियोजन, आशुतोष पाण्डेय ने बताया कि इस दौरान 1580 अभियुक्तों को जिला बदर भी कराया गया है तथा 9881 अभियुक्तों की जमानत खारिज कराने में भी सफलता प्राप्त की गयी। अभियान के दौरान बलात्कार सहित हत्या के ऐसे मामले में प्रभावी अभियोजन द्वारा हापुड़, हाथरस, रायबरेली, बांदा, गाजियाबाद, हरदोई, जौनपुर, सुलतानपुर व बुलन्दशहर में विभिन्न अभियोगों में 12 अभियुक्तों को फांसी की सजा से दण्डित कराया जा चुका है।

बताया गया कि अलीगढ़ के थाना इगलास के अन्तर्गत एक मामले मे जहां एक बच्ची को अगवा किया गया था और मामला 11 साल से लम्बित था इसमें अभियोजन द्वारा तीनों दोषियों को उम्रकैद की सजा से दण्डित कराया गया। उन्होंने यह भी बताया कि मिशन शक्ति अभियान के दौरान हत्या सहित दुष्कर्म करने वाले मुँहबोले चाचा का मामला हो या नैतिक पतन की पराकाष्ठा करते हुये अयोध्या के हैदरगंज थाना क्षेत्र में दुराचार करने वाले पिता को दण्डित कराने का मामला हो, अभियोजन ने उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए दोषियों को आजीवन कारावास से दण्डित कराया।

Ashiki

Ashiki

Next Story