Top

शिक्षक भर्ती की सीबीआई जांच कराने के खिलाफ सरकार ने दाखिल की अपील

सूबे की योगी सरकार ने 68500 सहायक शिक्षकों की भर्ती में हुई कथित घेर अनियमितताअें की सीबीआई से जांच कराने संबधी इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच के एकल पीठ द्वारा गत दिनें पारित आदेश को डिवीजन बेंच के सामने स्पेशल अपील याचिका दायर कर  चुनौती दी है।

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 21 Nov 2018 4:46 PM GMT

शिक्षक भर्ती की सीबीआई जांच कराने के खिलाफ सरकार ने दाखिल की अपील
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : सूबे की योगी सरकार ने 68500 सहायक शिक्षकों की भर्ती में हुई कथित घेर अनियमितताअें की सीबीआई से जांच कराने संबधी इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच के एकल पीठ द्वारा गत दिनें पारित आदेश को डिवीजन बेंच के सामने स्पेशल अपील याचिका दायर कर चुनौती दी है।

ये भी देखें : BJP के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ ने शिवपाल को दी नसीहत कहा- अपना ज्ञान सुधर लें

यह स्पेशल अपील चीफ जस्टिस गोंविद माथुर व जस्टिस राजेश सिंह चौहान की बेंच के सामने गुरूवार को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध है। दरअसल एकल पीठ के न्यायाधीश जस्टिस इरशाद अली ने गत 1 नवंबर को सोनिका देवी व अन्य की ओर से अलग अलग दायर कई रिट याचिकाओं पर एक साथ सुनवाई करते पूरी भर्ती प्रकिया में बड़े पैमाने पर प्रथम दृष्टया गड़बड़िया पाते हुए पूरी प्रकिया की जांच सीबीआई को सौंप दी थी।

ये भी देखें : प्रयागराज : हाईकोर्ट से हजारों अधिवक्ता कूच करेंगे अयोध्या

सरकार ने डिवीजन बेंच के सामने एकल पीठ के फैसले को चुनौती देते हुए उक्त 1 नवंबर के आदेश को रद्द करने की मांग की है। राज्य सरकार की ओर से दलील दी गयी है कि पूरी भर्ती प्रकिया पारदर्शी थी और इसमें कही किसी प्रकार का भ्रष्टाचार नहीं हुआ। यह भी कहा गया है कि कोर्ट के कहने पर सरकार ने स्वयं एक उच्चस्तरीय कमेटी बनाकर उससे जांच करने को कहा था ऐसे मे सीबीआई से जांच कराने का कोई औचित्य नहीं है।

ये भी देखें : हाईकोर्ट ने दुबग्गा के खसरा नंबर 457 पर कूड़ा ढेर करने पर लगायी रोक

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story