Top

केजरीवाल के मंत्री-विधायकों पर खुलासा, पैन नंबर का किया फर्जीवाड़ा

Admin

AdminBy Admin

Published on 25 March 2016 7:43 AM GMT

केजरीवाल के मंत्री-विधायकों पर खुलासा, पैन नंबर का किया फर्जीवाड़ा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: आम आदमी पार्टी (आप) एक बार फिर विवादों में है। इस बार दिल्ली की केजरीवाल सरकार के एक कैबिनेट मंत्री समेत चार विधायकों पर फर्जीवाड़े का आरोप लगा है। इन विधायकों ने चुनाव आयोग को दिए गए एफिडेविट में फर्जी पैन नंबर लगाया है। केजरीवाल सरकार के उस कैबिनेट मंत्री का नाम कपिल मिश्रा है।

इन विधायकों पर है फर्जीवाड़े का आरोप

-करावल नगर नॉर्थ ईस्ट से विधायक और कैबिनेट मंत्री कपिल मिश्रा ने चुनाव आयोग को दिए गए एफिडेविट में पत्नी प्रीति का फर्जी पैन कार्ड नंबर दिया है।

-यह पैन कार्ड नंबर ASIPM3751E है। उन्होंने 2013 के चुनाव में भी पत्नी के पैन कार्ड नंबर के तौर पर यही नंबर बताया था।

-दिल्ली के सीलमपुर नार्थ ईस्ट से आप विधायक मोहम्मद इशराक ने भी एफिडेविट में गलत पैन कार्ड नंबर दिया है, जिसका नंबर AGSPR3269R है।

-इसी तरह 68-गोकलपुर नार्थ इस्ट से आप विधायक फतेह सिंह ने भी अपने स्पाउस के पैन कार्ड नम्बर की जगह फर्जी पैन कार्ड नंबर (BHAMPK1859) दिया है।

-राजिंदर नगर साउथ वेस्ट से ​आप विधायक विजेंद्र गर्ग विजय द्वारा भी अपने स्पाउस के पैन कार्ड नंबर की जगह दिया गया पैन कार्ड नंबर (ADRPG0020F) फर्जी है।

ये भी पढ़ें: AAP के फाउंडर मेंबर ने केजरी को बताया सबसे बड़ा धोखेबाज,पढ़िए ओपन लेटर

'आप' के पूर्व सदस्य ने उठाया इस फ्रॉड से पर्दा

आप के पूर्व सदस्य नील टेरेंस हसलाम ने इस कैबिनेट मंत्री और विधायक के इस फर्जीवाड़े से पर्दा उठाया है। इसकी शिकायत पीएम, इलेक्शन कमीशन, फाइनेंस मिनिस्टर और पुलिस ​कमिश्नर दिल्ली के साथ स्थानीय पुलिस से भी की है।

विधायक ने एजूकेशनल डिग्री की दी गलत जानकारी

नील टेरेंस हसलाम ने करोल बाग-सेंट्रल से आप विधायक विशेष रवि की शैक्षिक योग्यता पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा है कि साल 2013 में चुनाव आयोग को दिए गए एफिडेविट में रवि ने अपनी अधिक​तम शैक्षिक योग्यता ग्रेजुएट बताई है। इसके अनुसार उन्होंने चौधरी चरण सिंह विवि से 2008 में कॉमर्स सबजेक्ट से ग्रेजुएट की उपाधि ली, जबकि साल 2015 में आयोग को दिए गए एफिडेविट में उन्होंने बताया है कि वह इग्नू (दिल्ली विवि) से कला सबजेक्ट के साथ ग्रेजुएट कर रहे हैं।

नीचे लेटर देखिए, फर्जीवाड़े के खुलासा...

AAP-ARVIND

AAP-ONE

AAP-PARTY AAP-THREE AAP-TWO ARVIND

Admin

Admin

Next Story