Top

रैगिंग केसः ABVP का प्रोटेस्‍ट, 12 और दोषियों को सस्पेंड करने की मांग

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 12 May 2016 11:42 AM GMT

रैगिंग केसः ABVP का प्रोटेस्‍ट, 12 और दोषियों को सस्पेंड करने की मांग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा: डीपीएस (दिल्‍ली पब्लिक स्‍कूल) में रैगिंग के मामले में एबीवीपी ने स्कूल के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया है। एबीवीपी की मांग है कि 12 और आरोपी स्टूडेंट्स को सस्‍पेंड किया जाए जबकि बुधवार को 6 स्टूडेंट्स को सस्पेंड कर दिया गया था। एबीवीपी ने मांग की है कि कोर्ट की गाइड लाइन के अनुसार स्कूल की मान्यता रद्द की जाए।

यह भी पढ़ें... DPS में रैगिंग,सीनियर स्‍टूडेंटस ने जूनियर को जमकर पीटा,15 पर केस दर्ज

एबीवीपी ने डीपीएस स्कूल से लेकर सेक्टर-19 सिटी मजिस्ट्रेट ऑफिस तक पैदल मार्च निकाला। एबीवीपी ने स्कूल प्रबंधन से कहा है कि यदि आरोपी स्टूडेंट्स को सस्‍पेंड नहीं किया गया तो वह सड़क पर उतरकर आंदोलन करेंगे।

6 स्टूडेंट हो चुके हैं सस्पेंड

-इस मामले में डीपीएस स्कूल के प्रिंसिपल ने पहले ही 6 स्टूडेंट्स को सस्‍पेंड कर दिया है।

-वहीं, 12 अन्य स्टूडेंट्स की पहचान की जा रही है।

-हालांकि सभी स्टूडेंट हास्टल के थे इसको लेकर जांच की जा रही है।

-कमेटी द्वारा अभी तक प्रबंधन को रिपोर्ट नहीं दी गई है।

-फिलहाल पुलिस भी इस मामले में पूछताछ कर रही है।

विक्टिम ने छोड़ा स्कूल

-विक्टिम यश ने स्कूल छोड़ दिया है। यश के पिता उसे हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कराने के बाद बुलंदशहर स्थित अपने घर ले गए।

-यश के पिता अर्जुन सिह का कहना है कि उन्होंने डीपीएस स्कूल के हॉस्टल से उसका सारा सामान निकाल लिया है।

-यश का दाखिला अब दूसरे स्कूल में कराएंगे। ऐेसे स्कूल में पढ़ाने का कोई फायदा नहीं है।

-जहां बच्चों के साथ मारपीट होती हो और स्कूल प्रबंधन लापरवाही भरा रवैया अपनाए।

क्या है पूरा मामला

-सोमवार रात सेक्टर-3० स्थित डीपीएस स्कूल में 12वीं के 18 स्‍टूडेंट्स ने 11वीं के स्टूडेंट यश और ध्रुव को रैगिग का विरोध करने पर बुरी तरह पीटा था।

-हमले में घायल बच्चों का कैलाश हॉस्पिटल में इलाज किया गया।

-यश की मां की शिकायत पर सेक्टर-2० थाने में 6 नामजद और 12 अज्ञात स्‍टूडेंट्स के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

Newstrack

Newstrack

Next Story