×

लाल सलाम का नारा लगाने वाले कभी राष्ट्रध्वज का सम्मान नहीं कर सकते:एबीवीपी

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) की राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने कहा कि 'नक्सलवाणी एक ही रास्ता' और 'लाल किले पर लाल सलाम' का नारा लगाने वाले कभी राष्ट्रध्वज का सम्मान नहीं कर सकते।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 26 Jan 2020 2:29 PM GMT

लाल सलाम का नारा लगाने वाले कभी राष्ट्रध्वज का सम्मान नहीं कर सकते:एबीवीपी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

गोरखपुर: अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) की राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने कहा कि 'नक्सलवाणी एक ही रास्ता' और 'लाल किले पर लाल सलाम' का नारा लगाने वाले कभी राष्ट्रध्वज का सम्मान नहीं कर सकते। इनसे किसी भी तरह से देश प्रेम के भाव की अपेक्षा रखना खुद को धोखा देने जैसे है।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की केंद्रीय कार्यसमिति की बैठक में पहुंची राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने गोरखपुर के दिग्विजयनाथ डिग्री कालेज स्थित दिग्विजयनाथ समिति सभागार में जेएनयू प्रकरण पर बोलते हुए कहा कि जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय की अकादमिक साख है। लेकिन कुछ संगठन जसे बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें...एबीवीपी और अखिल भारतीय हिुंदू महासभा ने दिलीप मंडल के खिलाफ दी तहरीर

आंदोलन के नाम पर नकाब लगाकर जेएनयू में हिंसा फैलाने वालों की किसी भी बदनियति को एबीवीपी सफल नहीं होने देगी। राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने कहा कि लाल किले पर लाल सलाम' का नारा बुलंद करने वाले 'राष्ट्रध्वज' का नहीं कर सकते सम्मान।

एबीवीपी ने छात्रों के हित में काम करने का बीड़ा उठाया है और वह इसे बखूबी कर रही है। एबीवीपी के प्रयास से जेएनयू के 91 प्रतिशत छात्रों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है। फीस बढ़ोत्तरी से लेकर जेएनयू में घटित होने वाली हिंसा की घटना तक एबीवीपी ने सकारात्मक पहल की है।

जेएनयू की अकादमिक साख गिरने नहीं देंगे। इस दिशा में सुधार की प्रक्रिया अनवरत जारी रखने का संघर्ष होता रहेगा। एक ज़वाल के जवाब में उन्होंने कहा कि एबीवीपी छात्रसंघ चुनावों की पक्षधर है और अब भी अपनी चुनाव संबंधी मांग पर अडिग है। छात्रसंघ होने से छात्रों का हित प्रभावित होने की गुंजाइश न के बराबर होती है।

ये भी पढ़ें...कभी स्कूटर पर साथ घूमते थे नड्डा और मोदी, पार्टी के लिए किया ये बड़ा काम

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story